आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

खाद्य तेल आयात में पांच लाख टन वृद्धि की संभावना

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क

Updated Tue, 25 Sep 2012 04:34 PM IST
imports of edible oil is expected to increase to five million tonnes
बारिश कम होने से बुवाई क्षेत्र में कमी के कारण देश में खाद्य तेल का आयात 2012-13 में करीब 5 लाख टन बढ़कर 103.10 लाख टन हो जाने का अनुमान है। फसल शोध कंपनी जीजी पटेल एंड निखिल रिसर्च के प्रबंध सहयोगी गोविंद भाई पटेल ने कहा, '2012-13 के दौरान खाद्य तेल का आयात 5 लाख टन बढ़कर 103.1 लाख टन हो जाने का अनुमान है, जो वित्त वर्ष 2011-12 में 97.8 लाख टन था।'
उन्होंने कहा कि आयात में जो वृद्धि होगी, वह मुख्य रूप से पाम आयल के क्षेत्र में होने की संभावना है। 2012-13 में पाम ऑयल का आयात 81 लाख टन होने का अनुमान है जो 2011-12 में 75 लाख टन था। पटेल ने कहा कि ऊंची कीमत के कारण कुल खपत में मामूली 3.10 प्रतिशत वृद्धि की संभावना है।

उन्होंने कहा कि कम बारिश के कारण खरीफ मौसम में तिलहन के अंतर्गत कुल रकबे में पांच प्रतिशत कमी की आशंका है। पटेल ने कहा, 'इस साल तिलहन का कुल रकबा 159.8 लाख हेक्टेयर रहने का अनुमान है जो पिछले वर्ष 167.9 लाख हेक्टेयर था।'

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

एक हिट देकर गुमनामी में खो गई थी 'तुम बिन' की ये हीरोइन, अब संभाल रही अरबों का बिजनेस

  • बुधवार, 26 जुलाई 2017
  • +

बॉलीवुड सेलिब्रिटीज ‘पोल डांस’ से अपने आप को रखते हैं फिट, आप भी करें ट्राई

  • बुधवार, 26 जुलाई 2017
  • +

इंग्लिश का ‌सिर्फ एक शब्द जानती है सनी लियोन की बेटी, जानें निशा के बारे में दिलचस्प बातें

  • बुधवार, 26 जुलाई 2017
  • +

जब पति नहीं होते घर पर, तब बीवियां करती हैं ये काम

  • बुधवार, 26 जुलाई 2017
  • +

मीठा नहीं इस बार तीज को बनाए कुछ यूं चटपटा...

  • बुधवार, 26 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!