आपका शहर Close

आधुनिक कृषि यंत्रों से कम लागत में अधिक पैदावार

नई दिल्ली/ब्यूरो

Updated Sun, 16 Dec 2012 08:44 PM IST
higher yields at lower cost from modern agricultural equipment
सीमित जमीन पर अधिक उत्पादन के लिए सरकार ने किसानों को मशीनों का अधिकाधिक उपयोग करने की सलाह दी है।
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) का कहना है कि कृषि यंत्रों के जरिए खेती करने वाले किसान प्रत्येक फसल में 30 फीसदी से अधिक उत्पादन कर सकते हैं। कृषि यंत्रों की खरीद के लिए केंद्र सरकार किसानों को मदद भी उपलब्ध करा रही है। इसके साथ ही न्यूनतम ब्याज दर पर कर्ज लेकर भी किसान कृषि यंत्र खरीद सकते हैं।

आईसीएआर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ जेपीएस डबास के मुताबिक आईसीएआर ने किसानों खेती से जुड़ी समस्याओं का हल घर बैठे करने के लिए वैश्विक सूचना प्रणाली (जीआईएस) शुरू किया है। इससे किसान खेती-किसानी का 50 फीसदी काम जीआईएस के जरिए कर सकेंगे।

इसके तहत किसान घर बैठे मिट्टी की जांच, बीज का चयन, जरूरत के मुताबिक खाद का उपयोग करने की जानकारी हासिल कर सकेंगे। बेहतर उपज के लिए जुताई, बुवाई, बीजारोपण, खाद डालने, कटाई आदि का काम कृषि यंत्रों से करना जरूरी है।

आईसीएआर के वैज्ञानिकों ने कई आधुनिक कृषि यंत्रों का आविष्कार किया है। इसके अलावा कई निजी कंपनियां भी आधुनिक कृषि यंत्रों का निर्माण कर रही हैं। जिसके जरिए किसान कम लागत में बेहतर उपज प्राप्त कर सकते हैं।

महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (फार्म इक्विपमेंट सेक्टर) संजीव गोयल के मुताबिक कंपनी ने मिट्टी के कणों को अधिक बारीक कर उसमें पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ाने के लिए रोटरी टिलेज का निर्माण किया है।

इसके साथ ही धान की कटाई के बाद बाकी बचे हिस्सों की पिसाई कर इन्हें जैव-उर्वरक में बदलकर वापस मिट्टी में मिलाने के लिए महिंद्रा मल्चर के नाम से क्रॉप रेसिड्यू मैनेजमेंट बनाया है। इससे किसानों को कटाई के बाद खेत में बचे हुए खर-पतवार जलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
Comments

स्पॉटलाइट

पद्मावती का 'असली वंशज' आया सामने, 'खिलजी' के बारे में सनसनीखेज खुलासा

  • शुक्रवार, 17 नवंबर 2017
  • +

Film Review: विद्या की ये 'डर्टी पिक्चर' नहीं, इसलिए पसंद आएगी 'तुम्हारी सुलु'

  • शुक्रवार, 17 नवंबर 2017
  • +

पत्नी को किस कर रहा था डायरेक्टर, राजकुमार राव ने खींच ली तस्वीर, फोटो वायरल

  • शुक्रवार, 17 नवंबर 2017
  • +

सिर्फ 'पद्मावती' ही नहीं, ये 4 फिल्में भी रही हैं रिलीज से पहले विवादों में

  • शुक्रवार, 17 नवंबर 2017
  • +

बेसमेंट के नीचे दफ्न था सदियों पुराना ये राज, उजागर हुआ तो...

  • शुक्रवार, 17 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!