आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

बाघ के बच्चों के यशोदा बन गई 'क्लिओपेट्रा'

मास्को/इंटरनेट डेस्क

Updated Wed, 19 Sep 2012 01:29 PM IST
tiger sub feeding bitch cliopetra
सिर्फ जन्म देने वाली ही मां नहीं होती। दरअसल पालने वाले का दर्जा जन्मदाता से बड़ा होता है और ये बात रूस के चिड़ियाघर में साबित हो गई। रूस के चिड़ियाघर में साइबेरियाई बाघ के दो शावकों को दूध पिला रही एक कुतिया 'क्लिओपेट्रा' लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। बाघ के इन शावकों का जन्म रूसी शहर सोची के एक रिजॉर्ट में मई में हुआ था। प्रसव के दौरान इनकी मां की मौत हो गई थी।
शावकों को दूध पिला रही कुतिया का नाम क्लियोपेट्रा है। रिजॉर्ट में सोची जू की सहायक निदेशक विक्टोरिया कुडालायेवा भी रह रही हैं। शावकों की मां की मौत के बाद क्लियोपेट्रा ने उनको अपना लिया है। वह अपने बच्चों की तरह उन्हें दूध पिला रही है और चाटकर उनकी सफाई भी कर रही है। इन बच्चों का नाम भी क्लियोपेट्रा के नाम को तोड़कर क्लोपा और प्लूशा रखा गया है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

फिर रामू ने मचाया बवाल, भगवान गणेश पर किए आपत्तिजनक ट्वीट

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

मानसून में भूलकर भी न खाएं ये चीजें हो सकते हैं बीमारियों के शिकार

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

ये हैं शाहरुख खान की बहन, हुआ था ऐसा हादसा सालों तक डिप्रेशन में रहीं

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

बनना चाहते हैं बॉस के 'फेवरेट' तो जल्दी से कर लें ये काम

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

ग्रेजुएट्स के लिए 'इंवेस्टीगेशन ऑफिसर' बनने का मौका, 67 हजार सैलरी

  • बुधवार, 28 जून 2017
  • +

Most Read

अनोखा बच्चाः 3 पैर और 2 पेनिस

Unique child in kanpur 3 feet and 2 Penis
  • सोमवार, 5 दिसंबर 2016
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top