आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

जोक्स के बेताज बादशाह कैसे बन गए रजनीकांत

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क।

Updated Mon, 12 Nov 2012 10:58 AM IST
rajnikanth make jokes hero
शोहरत की सीमाओं को जब नापना मुश्किल हो जाता है तो फिर काबलियत को लेकर जो बातें कही और सुनी जाती हैं, वो किवदंती बन जाती हैं। दक्षिण भारत के सुपर स्टार रजनीकांत के साथ शायद यही हुआ है और उनका स्टाइल किवदंती तो बन ही गया है, काबिलियत जोक्स बनकर एसएमएस की शक्ल में दुनिया भर की हवाओं में तैर रही है। कहते हैं,वो
मोबाइल फोन ही क्या, जिसके इन बॉक्स में एसएमएस की शक्ल में रजनीकांत पर कोई जोक्स नहीं हो। इन जोक्स पर खुद रजनीकांत भी मजे लेते हैं, तभी तो वो कहते हैं ‘कृपा करके आप मुझ पर जोक्स न बनाएं नहीं तो मैं फॉर्वर्ड बटन ही डिलीट कर दूंगा’।

रजनीकांत पर जोक्स की शुरुआत कैसे हुई, इस पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की जा सकती, लेकिन आंधी की तरह आने वाले, दसों को एक ही गोली से मार गिराने वाले, दो आंखों से 360 डिग्री के कोण पर देखने वाले, ‘वन मैन आर्मी’ रजनीकांत पर हर दिन कोई न कोई नया जोक सामने आ जाता है। ‘रजनी कांत सांस नहीं लेते, हवा अपनी सुरक्षा के लिए उनके फेफड़ों में छुप जाती है।’ यह जोक्स तब लोगों के पास आया, जब रजनीकांत आईसीयू में भर्ती थे। दुआ के बदले जोक्स देखकर तो यही लगता है कि रजनीकांत के फैन्स कभी यह मानने को तैयार ही नहीं हैं कि रजनीकांत जैसा सुपर स्टार बीमार भी पड़ सकता है।


तभी तो लोग कहते हैं, ‘रजनीकांत पुशअप्स करते समय खुद को नहीं उठाते, बल्कि जमीन अपने आप ही नीचे धंस जाती है। एक दूसरा जोक है, ‘रजनीकांत घड़ी नहीं पहनते, वो खुद निर्णय करते हैं कि समय क्या होना चाहिए? वैसे भी 61 साल की उम्र में भी हीरो बनना तो उनका वक्त पर काबू पाना ही दिखाता है। उनकी ये सभी जोक्स दर्शाते हैं कि रजनीकांत के फैन्स के मन में उनकी क्या छवि बनी हुई है। जैसै रजनी इस ग्रह के हैं ही नहीं। वो ऐसा सब कुछ कर सकते हैं जो एक आम इंसान नहीं कर सकता।

फैंस की नजर में रजनीकांत क्या हैं, जरा इस जोक में देखिए. ‘रजनीकांत ने तमिलनाडु में किसी बीच पर शूटिंग के दौरान एक पत्थर को जोर से ठोकर मारी और वो पत्थर आज श्रीलंका कहलाता है । ‘रजनीकांत की एक फोटो को जिरोक्स के लिए दिया गया तो आप जानते हैं कि क्या हुआ? जिरोक्स मशीन की ही दो कॉपी हो गईं। यही नहीं,‘रजनी ने एक मैच  के दौरान छक्का मारा और वो बॉल आज प्लूटो नाम से जानी जाती है।’ अब तो लगने लगा है कि जितने भी ग्रह और देश हैं, उनके पीछे कहीं रजनीकांत का हाथ तो नहीं। तभी तो,‘जब ग्राहम बेल ने टेलीफोन का अविष्कार किया तो फोन पर रजनीकांत के दो मिस कॉल थे।

‘रजनीकांत के फेस बुक से जु़ड़ते ही 10 सेकेंड में उनके पास अरबों फ्रेंड रिक्वेस्ट आ गईं, जिनमें एक रिक्वेस्ट ये भी थी कि फेसबुक आपका दोस्त बनना चाहता है। एक ताजा जोक कहता है, ‘रजनी एक बार पैदल घूमने निकले, एक घंटे बाद उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया क्योंकि वो घूमते-घूमते बिना वीजा के अमेरिका पहुंच चुके थे । एक दूसरा जोक है, ‘एक बच्चा कश्मीर गया और वहां उसने बर्फ का एक पहाड़ बनाया, जो आज हिमालय बन चुका है। वह बच्चा कोई और नहीं रजनीकांत थे।’

रजनी किसी लड़की के साथ ताश खेलते हुए हार गए, जानते हैं क्यों? क्योंकि रजनी के पास तीन इक्के थे और उस लड़की के पास तीन रजनीकांत। यानी रजनीकांत को सिर्फ रजनीकांत ही हरा सकते हैं। रजनी ने जोक्स के संसार पर भी इस कदर कब्जा कर लिया है कि संता-बंता उपेक्षित महसूस करने लगे हैं और आत्महत्या करने वाले हैं।

चाहे नए जमाने का फेसबुक हो या फोन के अविष्कार का समय या पृथ्वी, आकाश और अंतरिक्ष हो, हर जगह रजनी के फैंस उन्हें शामिल कर देते हैं। हर जोक में एक नामुमकिन बात को ही संभव दिखाया गया है और संभव बनाने वाले हैं रजनीकांत। रजनीकांत पर बने ये सभी जोक्स उनकी पर्दे पर बनी ईमेज से ही प्रभावित लगते हैं। रजनी अपनी फिल्मों में अधिकतर ऐसे ही हैरतंगेज कारनामे दिखाते हैं। अगर इस हिसाब से देखें तो जो जोक्स में कहा गया है वो करना रजनीकांत के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं होगा।

अपनी कला का लोहा दुनियाभर में मनवाने वाले रजनीकांत के पीछे आज फैन्स की एक लंबी लाइन नजर आती है। बस कंडक्टर से सुपरस्टार बनने तक रजनीकांत का सफर उनकी मेहनत और कला के दमखम
को दर्शाता है। लोग उनके स्टाइल के दीवाने हैं।

दरअसल इसके पीछे वजह रजनीकांत की उनके अलग अंदाज से बनी ईमेज ही है। वो अपनी फिल्मों में हमेशा ही कुछ अनोखा और आश्चर्यजनक करते आए हैं। उनके स्टाइल और एक्शन इतने हटके होते हैं कि जो हम सोच भी नहीं पाते। लगता है के उनके फैन्स के जहन में रजनी की एक ऐसे इंसान के रूप में ईमेज बन गई है जो किसी चोट, तकलीफ, कमजोरी और शायद जीवन मरण के चक्त्रस् से भी ऊपर है, और जिनके  इशारे पर चलती है ये प्रकृति, ‘ एक बार मानसून में रजनीकांत क्त्रिस्केट का मैच खेल रहे थे।और मैच की वजह से बारिश रद्द बो गई।

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

बालों की चिपचिपाहट को पल भर में दूर करेगा बेबी पाउडर का ये खास तरीका

  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +

पकाने की बजाय कच्चे फल-सब्जियों को खाने से होते हैं ये बड़े फायदे

  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +

'एनर्जी ड्रिंक' पीने वालों के लिए बड़ी खबर, हो रहा है शराब से भी ज्यादा नुकसान

  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +

अरे बाप रे! डेढ़ साल के बच्चे के काटने से मर गया जहरीला सांप

  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +

क्या आपको आती है बार-बार जम्हाई, नींद नहीं कुछ और है इसका कारण

  • बुधवार, 16 अगस्त 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!