आपका शहर Close

सलाखों के बीच होगा खुशबू का कारोबार, फैलेगी महक

फर्रुखाबाद/अखिलेश कुमार।

Updated Fri, 16 Nov 2012 11:52 AM IST
gulab jal will made in central jail
सेंट्रल जेल में अब गुलाब जल भी बनेगा। इसके लिए प्रस्ताव अंतिम चरण में है। लगभग डेढ़ सौ साल पुरानी इस जेल में पहली मर्तबा खुशबू का कारोबार शुरू होने जा रहा है। जेल में पिछले साल ही गुलाब की खेती शुरू हुई है। सबसे पुराना काम तंबू, दरी, लोहे के तसले बनाने का है। वर्ष 1882 में इसे अंग्रेजों ने शुरू कराया था।
गुलाब जल आसवन का काम बंदियों के हवाले रहेगा। पुराने ब्रांडों की लोकप्रियता को देखते हुए जेल प्रशासन को इसके भी हिट होने की उम्मीद है। इस प्रोजेक्ट का बजट करीब 3 लाख रुपये है। 2011-2012 में जेल प्रशासन ने गुलाब की खेती शुरू कराई है। अभी एक एकड़ में गुलाब बोया गया है। सालाना पैदावार 1000 किलो है। इसे बेचने के लिए कन्नौज ले जाया जाता है। जेल के वरिष्ठ अधीक्षक यादवेंद्र शुक्ला का कहना है कि  जेल में ही गुलाब जल बनाने का मसौदा बनाया गया है। जल्द ही काम शुरू हो जाएगा। इसके बाद खेती का रकबा बढ़ा दिया जाएगा। इस समय 50 एकड़ में खेती हो रही है। 30 एकड़ में आलू बोया गया है। 10 एकड़ में सब्जी है। 10 एकड़ में गेहूं व अन्य फसलें बोई जाती हैं।

शहर में गुलाब जल सालाना एक से डेढ़ लाख रुपये का कारोबार है। आंखों के अलावा लस्सी, मिठाई, क्रीम, उबटन, फेसवॉश में भी इसका प्रयोग हो रहा है। इसमें सफलता मिली तो जेल में अगला कारोबार अगरबत्ती का शुरू होगा।

Comments

स्पॉटलाइट

19 की उम्र में 27 साल बड़े डायरेक्टर से की थी शादी, सलमान खान की मां बनने के बाद गुमनाम हुईं हेलन

  • मंगलवार, 21 नवंबर 2017
  • +

साप्ताहिक राशिफलः इन 5 राशि वालों के बिजनेस पर पड़ेगा असर

  • मंगलवार, 21 नवंबर 2017
  • +

ऐसे करेंगे भाईजान आपका 'स्वैग से स्वागत' तो धड़कनें बढ़ना तय है, देखें वीडियो

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

सलमान खान के शो 'Bigg Boss' का असली चेहरा आया सामने, घर में रहते हैं पर दिखते नहीं

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +

आखिर क्यों पश्चिम दिशा की तरफ अदा की जाती है नमाज

  • सोमवार, 20 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!