आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   What is friendship?
What is friendship?

मेरे अल्फाज़

हमारी पाठक वन्दना कहती हैं, चेहरे की खिलखिलाती हुई मुस्कान है दोस्ती

Vandana Usha

1 कविता

925 Views
जब पूछा खुद से कि दोस्ती क्या है?
तो खयाल तेरा आया
संग होठों पे मुस्कान आखों में चमक लाया।
कुछ देर सही पर इबादत हमारी भी क़ुबूल हुयी
तेरी दोस्ती के तोहफे से ज़िंदगी हमारी गुलज़ार हुयी।
दोस्ती की सलामती और प्यार के लिए
वक़्त-बे-वक़्त मिलते हैं सब
खेल है सब,झूठ है सब
असल में खुद को बहलाने की बातें है सब,
दूरियों से कुछ फर्क नहीं पड़ता
अगर जज़्बात सच्चे हो जाएँ
दोस्ती कोई आफताब तो नहीं
जो चमके और डूब जाए
प्यार है,विश्वास है,उम्मीद है
चेहरे की खिलखिलाती हुयी मुस्कान है दोस्ती
हिम्मत है,हौसला है,रोशनी है
अरमानों को पूरा करने का आईना है दोस्ती।
धर्म,मज़हब,रूप-रंग,जाति
इन सबसे बढ़कर है दोस्ती की बाति
बुझती नहीं इसकी लौह
अंधर,बवंडर से डरकर
यकीन जब पक्का हो
तो दुश्मन भी देखते रह जाते है चुप रहकर
इस नादान नासमझ ने बस इतना जाना है
जिस पल दिल की जगह
दिमाग लगा दिया यारों
ये दोस्ती महज़ शब्दों का
खिलौना बन जाना है।

- वंदना उषा 

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
Comments
सर्वाधिक पड़े गए
Top
Your Story has been saved!