आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Chaman u hi khilta rahega

मेरे अल्फाज़

चमन यूं ही खिलता रहेगा

anwar hussain

18 कविताएं

30 Views
लोग आते रहेंगे
लोग जाते रहेंगे।

सिलसिला यूं ही ,
चलता रहेगा। 

भर जाऐगा चम़न,
फिर नऐ फूलों से। 

चम़न यूं ही
खिलता रहेगा। 

- अनवर हुसैंन अणु भागलपुरी



हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें। 
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!