आपका शहर Close
Home›  kavya›  Mai Inka Mureed

इब्ने इंशा : वो लड़की थी जो चाँद नगर की रानी थी

  • रत्नेश मिश्र, काव्य डेस्क, नई दिल्ली
  • सोमवार, 16 अक्टूबर 2017

'इंशा' ने शायरी के प्रचलित तौर-तरीकों से अलग अपनी रचनाओं के एक नया सौंदर्य-बोध ईजाद किया। सब माया है, सब ढलती-फिरती छाया है जैसा फ़कीरी अंदाज 'इंशा' के यहाँ ही संभव है।

क़तील शिफ़ाई : अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की

  • रत्नेश मिश्र, काव्य डेस्क, नई दिल्ली
  • रविवार, 15 अक्टूबर 2017

वैसे तो क़तील मोहब्बतों के शायर थे लेकिन शायर की कल्पनाओं को किसी हद में कैद नहीं किया जा सकता और इसीलिए वे सिर्फ रोमांटिक शायरियों तक सीमित नहीं हुए, सामाजिक-राजनीतिक मामलाेंं पर भी उन्होंने अपनी रचनाओं के माध्यम से टिप्पणी की।

खंडहर हो चुकी है शकील बदायूंनी की ‘शकील मंज़िल’

  • राजीव शर्मा/अमर उजाला, बदायूं
  • शुक्रवार, 4 अगस्त 2017

तीन अगस्त 1916 को शकील साहब यहीं जन्मे थे। शकील साहब की शायरी का तसव्वुर इसी शहर में पैदा हुआ।

'आंखों की रोशनी नहीं रही, फिर भी शायरी की थी चाह' 

  • शरद मिश्र, नई दिल्‍ली
  • शुक्रवार, 28 जुलाई 2017

इंदीवर: जब गीतों से आने लगी मिट्टी की ख़ुशबू

  • आसिफ इकबाल, नई दिल्ली
  • सोमवार, 24 जुलाई 2017

अशोक चक्रधर: कविता से जग को हंसाना है इनका शगल

  • विजय जैन, नई दिल्‍ली
  • रविवार, 23 जुलाई 2017

आनंद बख़्शीः जिनके गीतों ने बख़्शी बॉलीवुड को मोहब्बत 

  • आसिफ़  इक़बाल, नई दिल्‍ली
  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017

जिगर: अपनी रवायतों का एक ज़िंदादिल शायर

  • शरद मिश्र, नई दिल्ली
  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017

'दिल को सुकून रूह को आराम आ गया, मौत आ गयी कि यार का पैग़ाम आ गया' 

​हरिवंश राय बच्चन: ख़्वाहिश नहीं मुझे मशहूर होने की...

  • मुकेश झा, नई दिल्ली
  • गुरुवार, 20 जुलाई 2017

उपरोक्त पंक्तियां प्रखर छायावाद और आधुनिक प्रगतिवाद के प्रमुख स्तंभ माने जाने वाले महान कवि डॉ हरिवंशराय बच्चन की है।

नज़ीर अकबराबादी से बड़ा डेमोक्रेटिक कैनवास किसी शायर के पास नहीं

  • संजय अभिज्ञान, नई दिल्ली
  • मंगलवार, 18 जुलाई 2017

एक अकेली नज्‍़म में हजार चीजों की खबर देने वाले ये शब्दचित्र आगरा के शायर वली मुहम्मद के हैं जो बाद में नज़ीर अकबराबादी के नाम से मशहूर हुए।

कैलाश खेर: ...अड़ियल बैरागी हूं, ज़िद्दी अनुरागी हूं

  • अतुल सिन्हा, नई दिल्‍ली
  • मंगलवार, 18 जुलाई 2017
पाठकों के द्वारा भेजे गए
अन्य
Top
Your Story has been saved!