आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Halchal ›   jnanpith award winner prominent poet kunwar narayan dies at delhi
jnanpith award winner prominent poet kunwar narayan dies at delhi

हलचल

नई कविता के पुरजोर हिमायती कुंवर नारायण का निधन

काव्य डेस्क, नई दिल्ली

374 Views
ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित और नई कविता आंदोलन के पुरजोर हिमायती कवि कुंवर नारायण बुधवार को इस दुनिया को अलविदा कह गए। फिलहाल नारायण, दिल्ली में अपनी पत्नी और बेटे के साथ रहते थे। कुंवर की पहचान एक ऐसे शख्स के तौर पर थी जिन्होंने अपसनी रचनाशीलता में इतिहास और मिथक को जरिए वर्तमान को देखा। 

कुंवर का जन्म फैजाबाद में हुआ और उनका साहित्यिक सफर करीब 51 साल का रहा। कुंवर ने कला और सिनेमा पर कई उल्लेखनीय लेख लिखे। वह, उन चंद कवियों में से थे, जिन्हें बहुत प्यार और सम्मान मिला और जो की विवादों से दूर ही रहे। हालांकि एक बार उन्हें धमकी मिली जब उन्होंने 'अयोध्या 1992' कविता लिखी। 

पढ़ेंः पद्म भूषण कुँवर नारायण : नई कविता आंदोलन के पुरज़ोर हिमायती

उनकी पहली किताब साल 1956 में 'चक्रव्यूह' आई थी। इसके अलावा आकारों के आसपास, अपने सामने बी उनकी प्रमुख रचनाएं हैं। कुंवर नारायण को 1995 में साहित्य अकादमी और 2009 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया। इसके अलावा कुंवर को साहित्य जगत के सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से साल 2005 में सम्मानित किया गया। 
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!