आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Halchal ›   hindi poets recited poems in hasya vyang kavi sammelan in aligarh
hindi poets recited poems in hasya vyang kavi sammelan in aligarh

हलचल

हास्य-व्यंग के सागर में डुबकी लगाते रहे श्रोता

अमर उजाला ब्यूरो, अलीगढ़ 

1467 Views
महाराजा अग्रसेन जयंती पर श्री अग्रवाल परिषद के तत्वावधान में डीएस कॉलेज के आडिटोरियम में हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। बड़ी संख्या में मौजूद श्रोता देर रात तक हास्य-व्यंग के सागर में डुबकी लगाते रहे। 

दिल्ली से आए प्रख्यात कवि प्रवीण शुक्ल ने ‘साइकिल में पंचर कर डाला, हाथ को लकवा मार गया, झाड़ू वाले का भी झाड़ू दिखलाना बेकार गया...’ सुनाकर वाहवाही लूटी। वहीं ग्वालियर से पहुंचे तेज नारायण ‘बेचैन’ ने चुटकी लेते हुए कहा कि ‘नासा के वैज्ञानिकों ने अपनी मिसाइलें मोदी जी को देते हुए कहा - इन्हें अंतरिक्ष में स्थापित कर दो, सुना है कि आप बहुत ऊंची छोड़ते हो’। उन्होंने अपनी दूसरी रचना ‘इस लोकतंत्र का दुर्भाग्य देखिये, सूर्योदय लाने का वादा वे लोग कर रहे हैं, जिनके खुद के चुनाव चिन्ह लालटेन हैं।

लोकतंत्र का दूसरा दुर्भाग्य ये है कि चुनाव की परीक्षाएं नजदीक आते ही नाथूराम गोडसे स्कूल के छात्र भी महात्मा गांधी मार्ग से होकर गुजरते हैं’ सुनकर दर्शकों को गुदगुदाया। जबलपुर से पहुंचे सुदीप भोला की रचना ‘आसाराम, रामपाल फिर राम रहीम जब भीतर गए तो रामदेव गुस्से में बोले, ये सारे हैं छलिया अब यह सब चक्की पीसेंगे, हम बेचेंगे दलिया...’ को श्रोताओं ने बेहद पसंद किया। इसके अतिरिक्त मेरठी की तुषा शर्मा, ममता वार्ष्णेय, मैनपुरी के विनोद रस्तोगी और वेद प्रकाश मणि ने एक से बढ़कर एक रचनाएं सुनाकर देर रात तक श्रोताओं को बांधे रखा। 


मुहब्बत की रौशनी को सारी दुनिया में फैलाएं 

हास्य कवि सम्मेलन में भाग लेने आए देश के ख्यात कवि प्रवीण शुक्ला ने कहा कि अलीगढ़ अदब का शहर है। यहां में हिंदी और उर्दू की कविता को बहुत प्यार मिला है। इस शहर के बाशिंदे किसी राजनीतिक दल के बहकावे में नहीं आएं। अलीगढ़ की मोहब्बत की रौशनी को सारी दुनिया में फैलाएं। अमर उजाला से बातचीत में देश के वर्तमान हालात पर उन्होंने कहा, "मध्यवर्ग व्यवस्था को लेकर परेशानी में है। पहली बार ऐसा देख रहा हूं कि परेशानी को लोग सहन करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन यह बहुत दिन तक नहीं चलेगी और स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो जनता का संयम डोलेगा।" 
Comments
सर्वाधिक पड़े गए
Top
Your Story has been saved!