आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Haiku ›   famous hindi poet padmabhushan gopaldas neeraj haiku poem
famous hindi poet padmabhushan gopaldas neeraj haiku poem

हाइकु

'नीरज' की हाइकु कविता : रहता मौन, तो ऐ झरने तुझे, देखता कौन? 

काव्य डेस्क, नई दिल्ली

562 Views
जल चढ़ाया
तो सूर्य ने लौटाए
घने बादल। 

तटों के पास
नौकाएं तो हैं, किन्तु
पाँव कहाँ हैं? 

ज़मीन पर
बच्चों ने लिखा 'घर'
रहे बेघर। 

रहता मौन
तो ऐ झरने तुझे 
देखता कौन? 

चिड़िया उड़ी
किन्तु मैं पिंजरे में
वहीं का वहीं! 

ओ रे कैक्टस 
बहुत चुभ लिया
अब तो बस 

आपका नाम
फिर उसके बाद
पूर्ण विराम! 

- गोपालदास 'नीरज' 

साभार - कविता कोश 
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!