आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Haiku ›   famous haiku of Jenny Shabnam
famous haiku of Jenny Shabnam

हाइकु

जेन्नी शबनम: सूरज लाल, सागर में उतरा, देखने हाल

काव्य डेस्क-अमर उजाला, नई दिल्ली

425 Views

हाइकु जापानी शैली की लघु कविता है। इसमें 17 वर्ण होते हैं और इसे तीन पंक्तियों में लिखा जाता है। पहली पंक्ति में पांच वर्ण, दूसरी में सात, और तीसरी में फिर पांच वर्ण होते हैं।


सूरज झांका-
सागर की आंखों में
रूप सुहाना।
 * * *
मिट जाएंगे
क़दमों के निशान
यही जीवन।
  * * *
अद्भुत लीला-
दूध -सी हैं लहरें
सागर नीला।
  * * *
अथाह नीर
आसमां ने बहाई
मन की पीर।
  * * *
सूरज लाल
सागर में उतरा
देखने हाल।
  * * *
पांव चूमने
लहरें दौड़ी आई
मैं सकुचाई।
  * * *
उतर जाऊं-
लहरों में खो जाऊं 
सागर सखा।
  * * *
क्षितिज पर,
बादल व सागर
आलिंगनबद्ध। 
  * * *
तौल सके जो
नहीं कोई तराजू
मां की ममता।
  * * *
समझ आई
जब खुद ने पाई
मां की वेदना।


- जेन्नी शबनम

साभार-  कविता कोश
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!