आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

सुप्रीम कोर्ट का आदेशः सिनेमा हॉल में फिल्म से पहले बजेगा राष्ट्रगान, खड़े होंगे दर्शक

टीम डिजिटल/अमर उजाला, नई दिल्‍ली

Updated Wed, 30 Nov 2016 10:09 PM IST
supreme court ordered National anthom should be played in every cinema hall and multiplex
अब देशभर के सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजेगा और मौजूद दर्शकों को राष्ट्रगान को सम्मान देने के लिए खड़े होना होगा। इस दौरान सिनेमाघरों के तमाम दरवाजे बंद होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने यह अंतरिम आदेश पारित करते हुए कहा कि इस पहल से लोगों में देशभक्ति और राष्ट्रवाद का भाव प्रबल होगा। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दस दिनों के भीतर प्रभावी करने के लिए कहा है। साथ ही शीर्ष अदालत ने राष्ट्रगान के व्यावसायिक इस्तेमाल और इसके नाट्य रूपांतरण पर भी रोक लगा दी है।
न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति अमिताभ रॉय की पीठ ने कहा है कि अब समय आ गया है कि लोग अपनी मातृभूमि के प्रति स्नेह दिखाएं। पीठ ने कहा, लोगों को यह अहसास होना चाहिए कि यह हमारा देश है। यह मेरी मातृभूमि है। पहले हम भारतीय हैं। पीठ ने कहा कि दूसरे देशों में आप वहां के कायदे मानते हैं लेकिन आप भारत में किसी तरह की पाबंदी नहीं चाहते। पीठ ने कहा है कि सिनेमा हॉल में जब राष्ट्रगान चलाया जाए तो स्क्रीन पर राष्ट्रीय ध्वज दिखे।

शीर्ष अदालत ने कहा कि प्रिवेंशन ऑफ इनसल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट, 1971 के तहत हर नागरिक का यह दायित्व है कि जब राष्ट्रगान चल रहा हो तो उसका सम्मान करे। पीठ ने कहा कि लोगों को यह महसूस होना चाहिए कि राष्ट्रगान और राष्ट्रध्वज का सम्मान किया जाना चाहिए। राष्ट्रगान संविधान में निहित राष्ट्रभक्ति का द्योतक है ओर पूरे राष्ट्र की मूल भावना है। इसका व्यक्तिगत सोच व अधिकारों से कोई सरोकार नहीं है।

साथ ही शीर्ष अदालत ने कहा कि न तो प्रत्यक्ष रूप से और न ही परोक्ष रूप से व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए राष्ट्रगान और राष्ट्रध्वज का इस्तेमाल हो। कोर्ट ने कहा है कि राष्ट्रगान का किसी तरह का नाट्य रूपांतरण नहीं होना चाहिए और किसी भी शो में इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। राष्ट्रगान या उसके किसी हिस्से को किसी चीज पर प्रिंट नहीं किया जाना चाहिए। इसका प्रदर्शन उस जगहों पर न हो जहां सम्मान पर आंच आने की आशंका हो। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब राष्ट्रगान गाया जाता है तो प्रोटोकॉल का सिद्धांत इससे जुड़ा होता है और इसमें राष्ट्रीय पहचान, राष्ट्रीय अखंडता और संवैधानिक देशभक्ति निहित होती है।

शीर्ष अदालत ने इस आदेश की प्रति सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तक पहुंचाने के लिए कहा है। साथ ही कहा कि इस आदेश को प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में छापा और दिखाया जाए, जिससे कि लोगों को पता चल सके कि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा आदेश पारित किया है। अदालत भोपाल के इंजीनियर श्याम नारायण चौकसी द्वारा जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही है। याचिका में राष्ट्रगान के गलत इस्तेमाल पर रोक लगाने की गुहार की गई है। साथ ही इसके व्यावसायिक इस्तेमाल पर रोक लगाने की गुहार की गई है।
आगे पढ़ें

राष्ट्रगान पर फैसले का भाजपा ने किया स्वागत

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

51 साल के सलमान पर भारी पड़ रहा 5 साल का मतिन, फिल्म रिलीज से पहले ही बना सुपरस्टार

  • शुक्रवार, 23 जून 2017
  • +

10 मिनट के रोल ने बदली थी इस हीरोइन की किस्मत, पैर छूने के लिए लगती थी फैंस की भीड़

  • शुक्रवार, 23 जून 2017
  • +

कान के दर्द से चुटकी में राहत दिलवाएंगे ये कुछ उपाय, आजमाकर तो देखिए

  • शुक्रवार, 23 जून 2017
  • +

ऑफिस में अगर चल रहा है आपका रोमांस, तो न करें ये हरकतें वरना...

  • शुक्रवार, 23 जून 2017
  • +

पति से भी ज्यादा अमीर हैं बॉबी देओल की पत्नी, फर्नीचर का बिजनेस कर बनी करोड़पति

  • शुक्रवार, 23 जून 2017
  • +

Most Read

सीएम योगी को गोली मारने पर एक करोड़ का रखा इनाम

Offensive post released by SP leader and his friends on Facebook
  • रविवार, 11 जून 2017
  • +

इज्जत पर EC आक्रामक, बोला- सवाल उठाने वालों को सबक सिखाना जरूरी

Election commission of India asked to modi government for contempt power for its image
  • सोमवार, 12 जून 2017
  • +

सीएम बनने के बाद पीएम से तीसरी बार मिले योगी

uttar pradesh cm yogi adityanath meets pm modi on lok kalayan marg
  • सोमवार, 12 जून 2017
  • +

राजनाथ, जेटली-नायडू की तिगड़ी तलाशेगी देश के अगले राष्ट्रपति का नाम

amit shah constitutes 3 member committee for presidential election
  • सोमवार, 12 जून 2017
  • +

भारतीय बुलेट ट्रेन में होंगे स्पेशल टॉयलेट और क्या होगा खास

Railway: bullet trains to have New toilet system with urinals, separate washrooms for men, women
  • रविवार, 11 जून 2017
  • +

NEET 2017 पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश- 26 जून से पहले CBSE जारी करे रिजल्ट

Supreme Court stays Madras High Court interim order restraining publication of results of NEET 2017
  • सोमवार, 12 जून 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top