आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

यूपी के 99 हजार सहायक शिक्षकों को मिल सकती राहत

राजीव सिन्हा/ अमर उजाला, नई दिल्ली

Updated Sat, 20 May 2017 05:18 AM IST
SC reserves its order in UP teacher appointment case
उत्तर प्रदेश के करीब 99 हजार प्राथमिक सहायक शिक्षकों को राहत मिलने के आसार दिख रहे हैं। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि प्राथमिक सहायक शिक्षकों के लिए टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (टीईटी) महज क्वालीफाइंग है न कि मेरिट का एकमात्र आधार। 
एनसीटीई का यह रुख पहले से अलग है और यह उन 99 हजार शिक्षकों के लिए राहत की बात है, क्योंकि इनकी नियुक्ति टीईटी पास और एकेडमिक क्वालिटी प्वाइंट (शैक्षणिक योग्यताओं के अंक) के आधार पर हुई थी। मालूम हो कि जिस संशोधित अधिनियम के आधार पर ये नियुक्तियां हुई थीं, उसे इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। हाईकोर्ट के फैसले से इन शिक्षकों की नौकरी पर तलवार लटकी हुई है, हालांकि ये सभी शिक्षक फिलहाल कार्यरत हैं।

न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल और न्यायमूर्ति यूयू ललित की पीठ के समक्ष एनसीटीई की ओर से पेश वकील ने कहा कि प्राथमिक सहायक शिक्षकों के लिए टीईटी महज क्वालीफाइंग हैं न कि इसके अंक नियुक्ति का पैमाना हैं।

पीठ ने शुक्रवार को इस संबंध में एनसीटीई का रुख जानना चाहा था। पीठ ने एनसीटीई के मेंबर-सेक्रेटरी को सोमवार तक हलफनामा दाखिल कर अपना पक्ष रखने को कहा है। हालांकि पीठ ने कहा कि एनसीटीई जो कह रही है वह ‘खतरनाक’ है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में शुक्रवार को अपना पक्ष सुरक्षित रख लिया।

इससे पहले शिक्षकों की ओर से पेश वरिष्ठ वकील आरएस सूरी ने सुनवाई के दौरान कहा कि टीईटी महज क्वालीफाइंग है और इसे वेटेज नहीं दिया जा सकता। उन्होंने शिक्षा का अधिकार अधिनियम की धारा-23 का उल्लेख करते हुए कहा कि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए न्यूनतम अर्हता टीईटी पास होना है। इस दलील के बाद ही पीठ ने एनसीटीई को अपना रुख बताने के लिए कहा था।

उधर यूपी सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ वकील आर वेंकटरमणी और राकेश मिश्रा ने पीठ को बताया कि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए एकेडमिक क्वालिटी प्वाइंट को हाईकोर्ट ने दरकिनार कर दिया था। उनका कहना था कि एनसीटीई टीईटी को क्वालीफाइंग की शर्त रख सकता है, लेकिन यह चयन का आधार नहीं हो सकता है। 
आगे पढ़ें

चयन की अलग-अलग विचारधाराएं होती हैं : सुप्रीम कोर्ट

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

इस राशि वालों को आज कमाई के मामले में आएगी अड़चन, जानें अपना राशिफल

  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

बीटेक और बीई की काउंसिलिंग फीस हुई महंगी

  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

B'day Spl : कभी अपने भाई के 'लव चाइल्ड' कहे गए थे अबराम, देखिए खास तस्वीरें

  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

जॉइंट पैन से लेकर मोटापा तक बढ़ता है AC की वजह से,आप भी जरूर पढ़ें

  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

बाल झड़ने की वजह से लोग कहने लगे हैं 'अंकल जी' तो अपनाएं मेथी का ये चमत्कारी नुस्खा

  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

Most Read

सपा, बसपा ने 2019 का चुनाव साथ लड़ने का दिया संकेत

SP, BSP can fight 2019 Lok Sabha elections together
  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

सेना किसी महिला को उठाकर रेप कर सकती है: CPM नेता

CPM leader says if rights gives to army then rape and murder cases will happen
  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

लापता विमान सुखोई-30 का पता चला, एयरलिफ्ट के जरिए मलबे तक पहुंचने की तैयारी

Wreckage of Su-30 MKI jet that went missing found, Ground parties to be airlifted to site
  • शुक्रवार, 26 मई 2017
  • +

मोदी से गलबहियों के पीछे क्या है नीतीश की रणनीति

bihar cm Nitish kumar strategy behind pm Modi
  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

EVM पर केवल NCP ने स्वीकारी आयोग की चुनौती, सबसे ज्यादा शोर मचाने वाले पीछे हटे

NCP the first party who ready to hack evm infront of election commission
  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

देश लौट कर बोलीं उज्मा- मैं भारत की बेटी, पाकिस्तान तो मौत का कुआं

Indian lady uzma return to India after permission granted by Islamabad high court Pakistan
  • गुरुवार, 25 मई 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top