आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

‘आर्थिक आजादी’ में पाकिस्तान और नेपाल से भी पिछड़ा भारत

टीम डिजिटल/अमर उजाला

Updated Fri, 17 Feb 2017 12:12 PM IST
India ranks 143rd in economic freedom index, behind Pak, Bhutan: Heritage Foundation

कनॉट प्लेस मार्केट PC: Social Media

वैश्विक स्तर पर प्रतिष्ठित आर्थिक आजादी के एक सूचकांक में भारत इस साल पिछड़कर 143वें पायदान पर पहुंच गया है। पिछले साल इस सूचकांक में भारत 123वें पायदान पर था। खास बात यह है कि अमेरिका के एक थिंकटैंक द्वारा तैयार किए जाने वाले इस सूचकांक में इस साल पाकिस्तान सहित अनेक दक्षिण एशियाई पड़ोसी देश भारत से बेहतर स्थिति में है। भारत के खराब प्रदर्शन के लिए थिंकटैंक की रिपोर्ट में बाजारोन्मुख सुधारों की दिशा समान रूप से प्रगति न हो पाने को जिम्मेदार ठहराया गया है।
हेरिटेज फाउंडेशन ने अपनी आर्थिक आजादी सूचकांक रिपोर्ट में कहा कि भले ही पिछले पांच साल में भारत की औसत सालाना विकास दर करीब सात फीसदी रही है, विकास को गहराई पूर्वक नीतियों में जगह नहीं दिया गया है, जो आर्थिक आजादी को संरक्षित करती है। राजनीतिक थिंकटैंक ने भारत को ‘अधिकांश रूप से अस्वतंत्र’ अर्थव्यवस्था की श्रेणी में रखा है और कहा है कि बाजारोन्मुख सुधारों की दिशा में प्रगति समान रूप से नहीं हो पा रही है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के जरिए बहुतेरे क्षेत्रों में व्यापक रूप से मौजूदगी बनाए हुए है। रिपोर्ट के मुताबिक प्रतिबंधात्मक और बोझिलकारी नियामकीय माहौल उद्यमिता को हतोत्साहित कर रहा है, जो इसकी जगह निजी क्षेत्र के विकास को बढ़ावा दे सकता था। यही नहीं, भारत को इस सूचकांक में मिले कुल 52.6 अंक गत वर्ष के मुकाबले 3.6 अंक कम हैं, जब भारत 123वें पायदान पर था।

हांगकांग, सिंगापुर, न्यूजीलैंड सूचकांक में अव्वल
इस साल के आर्थिक आजादी सूचकांक में हांगकांग, सिंगापुर और न्यूजीलैंड अव्वल रहे हैं। दक्षिण एशियाई देशों में सिर्फ अफगानिस्तान 163 पायदान और मालदीव 157 पायदान के साथ भारत के नीचे हैं। 125 पायदान के साथ नेपाल, 112वें पर श्रीलंका, 141 पर पाकिस्तान, 107वें पर भूटान और 128वें पर बांग्लादेश ने आर्थिक आजादी के मामले में भारत को पीछे छोड़ दिया है।
आगे पढ़ें

भारत तकनीक और मैन्यूफैक्चरिंग में विकसित

  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

एक ही फिल्‍म कर गुमनाम हुई ये 'गांव की छोरी', अब विदेश में खड़ा किया अरबों का साम्राज्य

  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

#Menstrual hygiene day: पीरियड्स में रखें इन बातों का ख्याल, वरना हो सकती हैं ये दिक्कतें

  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

कई फिल्मों में काम कर चुकीं इस पॉपुलर एक्ट्रेस के साथ बेटे ने किया कुछ ऐसा, फूट-फूट कर रोईं

  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

'मि. इंडिया' से स्टार बनी थी नन्ही 'टीना', अब कर रही है ये काम

  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

रमजान से जुड़ी इन बातों को नहीं जानते होंगे आप

  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

Most Read

'मन की बात' में बोले PM- योग दिवस में शामिल हो एक ही परिवार की तीन पीढ़ी

prime minister narendra modi address 32th times to nation trough mann ki baat
  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

CBSE 12वीं का रिजल्ट घोषित, इन वेबसाइट्स पर करें चेक

CBSE 12th class will be released today on 12pm
  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

'मेक इन इंडिया' मिसाइलें दुश्मनों को देंगी करारा जवाब, सरकार ने लिया फैसला

Jaitley chooses Indian vendor for Rs 18000 crore army missile contract
  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

बेटे से ही बनवाई मां-बाप की पोर्न वीडियो फिर मांगी एक करोड़ की फिरौती

making porn video of parents from son and after it a person taking ransom call to father
  • शनिवार, 27 मई 2017
  • +

मिग-21 उड़ाकर IAF चीफ ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

Indian Air Force Chief BS Dhanoa Flies MiG-21
  • रविवार, 28 मई 2017
  • +

देश लौट कर बोलीं उज्मा- मैं भारत की बेटी, पाकिस्तान तो मौत का कुआं

Indian lady uzma return to India after permission granted by Islamabad high court Pakistan
  • गुरुवार, 25 मई 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top