आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

नोटबंदी से  प्लेसमेंट पर लगी अस्थाई रोक, आईआईटी भी परेशान

अमर उजाला ब्यूरो/ नई दिल्ली

Updated Thu, 01 Dec 2016 03:01 AM IST
demontiezation hits placement season in college even in iits
नोटबंदी के बाद देश के आर्थिक बाजार में आई अस्थायी सुस्ती से परेशान कंपनियों ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) जैसे चोटी की तकनीकी शिक्षा देने वाले संस्थानों से फिलहाल प्लेसमेंट में हिस्सा नहीं लेने की सूचना देना शुरू कर दिया है। साथ ही इन कंपनियों ने यह भी कहा है कि उन्हें इसके लिए ब्लैकलिस्ट नहीं किया जाए क्योंकि अर्थव्यवस्था की सुस्त चाल की वजह से अभी नई भर्ती पर अस्थायी रोक लगाई गई है। जैसे ही स्थिति ठीक होगी, फिर से प्लेसमेंट चालू हो जाएगा।
एक मशहूर आईआईटी के प्लेसमेंट सेल में तैनात एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें कई मशहूर कंपनियों की तरफ से इस आशय का पत्र मिला है कि उन्हें ब्लैकलिस्ट नहीं किया जाए। उन्होंने अपनी मजबूरी जताते हुए लिखा है कि इस समय पूरे देश में नोटबंदी की वजह से स्थिति सामान्य नहीं है। इसलिए स्टार्टअप ही नहीं बल्कि जमी जमाई कंपनियों की भी हालत खराब है। इसलिए नई भर्ती पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई है। जैसे ही स्थिति ठीक होगी, एक बार फिर से प्लेसमेंट के जरिये भर्ती चालू हो जाएगी। उल्लेखनीय है कि दिसंबर की पहली तारीख से कई आईआईटी में प्लेसमेंट शुरू हो रहा है।

आईआईटी खड़गपुर कर चुका है 8 स्टार्टअप को ब्लैकलिस्ट
यह भी गौरतलब है कि आईआईटी खड़गपुर ने इसी महीने की शुरूआत में कैंपस प्लेसमेंट के  लिए 8 स्टार्टअप को ब्लैकलिस्ट कर दिया था। ब्लैकलिस्ट करने की वजह पिछले साल प्लेसमेंट प्रक्रिया के दौरान चुने गए आईआईटी के छात्रों से  जॉब ऑफर वापस लेना था। आईआईटी के हवाले से मीडिया में आई रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल के प्लेसमेंट के दौरान छात्रों को दिए जाने वाले जॉब ऑफर को इन कंपनियों ने कैंसिल कर  दिया था। 

इसी वजह से इस साल इन कंपनियों को कैंपस प्लेसमेंट में शामिल होने  से रोक दिया गया है। संस्थान का कहना है कि छात्रों से जॉब ऑफर वापस लेने पर न केवल छात्रों को  नुकसान हुआ है, बल्कि इससे संस्थान की सार्वजनिक और मार्केट छवि को भी  नुकसान पहुंचा है। इस साल देश के कई आईआईटी ने 30 से भी ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों को कैंपस प्लेसमेंट के लिए ब्लैकलिस्ट किया है।  
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

शादी के सवाल पर ये क्या बोल गए सलमान, शादीशुदा लोग होंगे दुुखी

  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

ईद मुबारकः इस एक काम को किए बिना अदा नहीं होती ईद की नमाज

  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

अंग्रेजी नहीं अब इस विषय को पढ़ना चाहते हैं लोग

  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

अगर खाते हैं तले हुए आलू तो हो जाइए सतर्क, घट सकती है उम्र

  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

प्रत्युषा की मौत के बाद ब्वॉयफ्रेंड राहुल ने की थी पार्टी, करीबी दोस्त ने खोले कई और राज

  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

Most Read

श्रीनगर के एक स्कूल की बिल्डिंग में छुपे थे आतंकी, सुरक्षाबलों ने दो को किया ढेर

sources says two terrorists killey by army who abdoned in srinagar DPS school
  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

पत्नी की याद में बना रहा था ताजमहल, गर्ल्स स्कूल के लिए तोड़ा सपना

retired postmaster helps to complete school for girls instead of Bulandshahr Taj Mahal
  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

मोदी बोले- E-Gem के जरिए PMO को सामान बेच रहे लोग

PM narendra modi adrresses nation with mann ki baat
  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

GST: पहले से टिकट बुक करा चुके तो देना होगा अतिरिक्त चार्ज

GST: If you have booked a railway ticket in advance, you will have to pay extra charge
  • रविवार, 25 जून 2017
  • +

महागठबंधन पर बड़ा फैसला ले सकते हैं नीतीश, बुलाई बैठक 

bihar cm nitish kumar calls for meeting and he will take big decision on mahagathbandhan
  • शनिवार, 24 जून 2017
  • +

राष्ट्रपति चुनावः नीतीश की लालू और कांग्रेस को दो टूक

Bihar ki beti has been nominated only to lose? CM Nitish Kumar
  • शनिवार, 24 जून 2017
  • +
Live-TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top