आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

दिलीप कुमार की तरह एक्टर बनना चाह रहे थे यश

सुमंत मिश्र/अमर उजाला ब्यूरो

Updated Tue, 23 Oct 2012 11:27 AM IST
yash wanted to be an actor like dilip kumar
यश चोपड़ा फिल्मों में आए तो थे नायक बनने लेकिन उनके बड़े भाई बीआर चोपड़ा ने उनके कंधे पर निर्देशन की जिम्मेवारी डाल दी। मगर उनमें प्रतिभा इससे भी कहीं बढ़ कर थी।
वे एक संपूर्ण रचनाकार और शिल्पकार थे। इसीलिए जब फिल्म से संन्यास लेने की बात उनकी जुबान से निकली तो वे चिरकाल के लिए इस विधा से दूर चले गए। वह कई बार साक्षात्कारों के दौरान कह चुके थे कि जब तक मेरे शरीर में जान है फिल्म बनाता रहूंगा।



शायद इसीलिए उन्होंने अपनी अंतिम फिल्म का नाम अभी दो महीने पहले रखा था-जब तक है जान। क्या उन्होंने मृत्यु के कदमों की आहट सुन ली थी? यश चोपड़ा अपने पिता से लड़-झगड़ कर पंजाब से बीआर चोपड़ा के पास मुंबई चले आए थे।



दिलीप कुमार के अदाकारी के वे कायल थे और उन्हीं की तरह हीरो बनना चाहते थे। जबकि पिता चाहते थे कि वे इंजीनियर या आईसीएस बनें। लेकिन आठ भाई-बहनों में सबसे छोटे होने के कारण वह सबके लाडले थे। सो बीआर भी उन्हें ना नहीं कर सके।



यश को उन्होंने आईएस जौहर के पास भेजा जो उनके लिए ‘अफसाना’ फिल्म लिख रहे थे। लेकिन जौहर जिस तीखे अंदाज में लोगों से बात कर रहे थे, वह देख कर यश कुछ ही घंटे बाद वापस आ गए। उन्होंने भाई से कहा कि मैं सिर्फ आपके साथ काम करूंगा।



तब पहला काम जो उन्हें सौंपा गया, वह था कलाकारों को शॉट के लिए सेट पर बुलाना, उनके मेकअप रूम में कॉस्ट्यूम लेकर जाना और उनके लिए चाय-नाश्ता से लेकर खाने का इंतजाम कराना। इसी दौरान ‘चांदनी चौक’ की शूटिंग के दौरान वे मीना कुमारी पर फिदा हो गए।



कॉलेज के दिनों से उन्हें शेरो-शायरी का शौक था और साहिर लुधियानवी उनके प्रिय शायर थे। यही कारण था कि मीना कुमारी जब भी शॉट से खाली होती वे उन्हें अपनी शायरी सुनाने लगते। मीना कुमारी को उनकी यह अदा पसंद आई।



जब वह ‘एक ही रास्ता’ की शूटिंग कर रही थी तो उन्होंने भोलेपन से कहा कि यश तुम हीरो क्यों नहीं बन जाते? मैं तुम्हारी सिफारिश भी कर देती हूं। उस समय वे युवा थे और सिर पर अच्छे-खासे बाल भी थे। वे अक्सर कंघी से बाल संवारते रहते थे। इश्क का भूत उन पर ‘आदमी और इंसान’ के समय भी चढ़ा।



जब वह मुमताज के प्यार में दीवाने हुए थे। तब भी वह हीरो बनना चाहते थे। लेकिन जब बीआर चोपड़ा ‘नया दौर’ बना रहे थे, तो फिल्म की हीरोइन वैजयंती माला ने कहा कि हीरो बनने का सपना छोड़ो। तुम बहुत ही अच्छे

निर्देशक बन सकते हो

माला ने कहा कि मैं बीआर साहब से तुम्हारी सिफारिश कर देती हूं। इसके बाद ‘साधना’ के समय वैजयंती माला ने चोपड़ा साहब के सामने यश की तारीफ की तो उन्होंने भी अपने भाई पर भरोसा जताया और ‘धूल का फूल’ के निर्देशन की बागडोर उन्हें सौंप दी।



उनकी पहली फिल्म का विषय बहुत ही संवेदनशील था। लेकिन उन्होंने यथार्थ रूप में इसे परदे पर पेश किया और बड़े भाई का दिल जीत लिया। इसके बाद उन्होंने ‘धर्मपुत्र’ और ‘वक्त’ बनाई। ‘वक्त’ ने कामयाबी के उस घोड़े पर उसे सवार किया, जो उन्हें अपने समकालीनों से दौड़ में सबसे आगे ले गया।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

yash chopra death

स्पॉटलाइट

अब ज्वेलरी खरीदने पर लगेगा टैक्स, देख लें कितना?

  • रविवार, 19 फरवरी 2017
  • +

भारत के कई शहरों में बढ़ रहा सेक्स का ये नया तरीका

  • रविवार, 19 फरवरी 2017
  • +

इस गर्मी में बड़े सस्ते दामों पर AC बेचेगी सरकार

  • रविवार, 19 फरवरी 2017
  • +

'मुझे टेप लगाना पसंद नहीं , बिना कपड़ों के इंटीमेट सीन करना अच्छा लगता है'

  • रविवार, 19 फरवरी 2017
  • +

क्या आप भी लगाते हैं डियोड्रेंट ? तो जरूर पढ़ें ये खबर

  • रविवार, 19 फरवरी 2017
  • +

जबर ख़बर

30 शौचालयों के गड्ढों की सफाई में जुटे केंद्रीय सचिव '

Read More

Most Read

कमाई के मामले में 'रईस' ने 'काबिल' को दी मात, एक दिन में कमा लिए इतने करोड़

boxoffice collection of shahrukh khan film raees
  • गुरुवार, 26 जनवरी 2017
  • +

देर रात सलमान ने राज ठाकरे को बुलाया अपने घर, जानें क्या बातचीत हुई

salman khan invites raj thakrey at night
  • बुधवार, 28 सितंबर 2016
  • +

कोयला बिनकर पेट पालते थे ओमपुरी, दो पत्नियों से तलाक के बाद हो गए थे अकेले

actor om puri passed away
  • शुक्रवार, 6 जनवरी 2017
  • +

बेइज्जती करना कोई सलमान से सीखे, ये एक्टर भी हुआ शिकार

sushant singh rajput getting angry on salman khan
  • मंगलवार, 23 अगस्त 2016
  • +

'दंगल' में निगेटिव रोल से नाराज हुए गीता फोगाट के रियल कोच, लेंगे लीगल एक्‍शन

geeta phogat real coach pyara ram angry with film dangal
  • मंगलवार, 27 दिसंबर 2016
  • +

बनेगी धड़कन-2, शिल्पा के रोल में श्रद्धा कपूर

shraddha kapoor and Suraj pancholi in Dhadkan-2
  • सोमवार, 15 अगस्त 2016
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top