आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

बिना केबल का रंगीन टीवी, 'आई हेट यू सचिन'

पंकज श्रीवास्तव

Updated Mon, 24 Dec 2012 03:39 PM IST
retirement of sachin shock for expectators
ऐसा भारत में ही हो सकता है जहां आप अपने 'भगवान' को कटघरे में खड़ा कर सवाल पूछ सकते हैं। यही नहीं उसकी काबिलियत पर उंगली उठाते हुए उसे यह 'पोस्ट' छोड़ने के लिए मजबूर भी कर सकते हैं। ऐसा ही कुछ क्रिकेट के 'युगपुरुष' सचिन तेंदुलकर के साथ भी हुआ।
सचिन ने क्रिकेट के सबसे रोमांचक संस्करण को अलविदा कह अपने प्रशंसकों को बहुत निराशा दी है। उनके 23 साल के क्रिकेट कैरियर में यह पहला मौका है जब उन्होंने मुझे इतना दुख दिया है। मेरे हिसाब से सचिन को अभी और वनडे क्रिकेट खेलना चाहिए था।

सचिन के वनडे क्रिकेट छोड़ने से कितना गहरा धक्का मुझे लगा है उसके कुछ कारण मैं आप लोगों से शेयर करना चाहता हूं--

1- मैं नास्तिक तो नहीं हूं पर भगवान को कम मानता हूं। जब सचिन वनडे मैचों में शतक के करीब पहुंचते हैं तो मैं पूरी तरह भगवान की प्रार्थना करने लगता हूं। मैं भगवान से कहता हूं कि हे भगवान सचिन का शतक जरूर पूरा करवा दें। सचिन ने मुझे भगवान में विश्वास करना सिखाया। आने वाले समय में अब ऐसा होना मुमकिन नहीं होगा।

2- क्रिकेट का प्रशंसक होने के अलावा मैं क्रिकेट खेलता भी हूं। मैच देखते हुए कभी-कभी मुझे लगने लगता है कि क्रिकेट बोरिंग हो रहा है। ऐसे में सचिन का शानदार स्ट्रेट ड्राइव मुझे इतना रोमांचित कर देता है कि मैं क्रिकेट से फिर प्यार करने लगता हूं। सचिन के जाने के बाद अब शायद मेरा क्रिकेट से प्यार कम होने लगेगा।

3- सचिन जब बल्लेबाजी करने उतरते हैं तो पूरा भारत एक साथ उनके स्वागत में खड़ा हो जाता है। यह हमारी अखंडता को दर्शाने का बेहतरीन उदाहरण है। अब जब सचिन मैदान पर नहीं उतरेंगे तो हम भारतवासी कितनी बार एक साथ होंगे इस पर संदेह है।

4- सचिन जब मैदान पर उतरते हैं तो उनको देखते हुए मैं अपना ध्यान उनके खेल पर कें‌द्रित करता हूं। इस कारण मेरे अंदर concentration power बहुत बढ़ती है। अब सचिन का खेल देखे बगैर मैं इस पॉवर को नहीं बढ़ा पाउंगा।

5- मैने जब से क्रिकेट खेलना और देखना शुरू किया तब से सचिन को ही पसंद करता हूं। सचिन का वनडे क्रिकेट छोड़ने के बाद अब मेरे लिए क्रिकेट वैसे ही जैसे बिना केबल का रंगीन टीवी।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

8 साल के बच्चे की इन आंखों को देख कहीं आप भी डर न जाएं!

  • रविवार, 26 मार्च 2017
  • +

पार्टनर की इन बातों को कभी ना करें इग्नोर

  • रविवार, 26 मार्च 2017
  • +

काजोल ने रानी को किया इग्नोर, क्या रिश्तों में आ गई दरार?

  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

टाटा का टॉप गियर, पिछड़ जाएंगी अन्य कंपनियां!

  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

जिंदा लोगों को यहां कर दिया जाता है दफन, धूमधाम से होता है जश्न

  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

Most Read

IndVsAus: पहले दिन का खेल खत्म, ऑस्ट्रेलिया 300 रन पर ढेर

India Vs Australia 2017 Fourth Test Live From Dharamshala Day 1
  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

IndVsAus LIVE: धीमी शुरुआत के बाद पुजारा-राहुल ने स्कोर 50 के पार पहुंचाया

India Vs Australia 2017 Fourth Test Live From Dharamshala Day 2
  • रविवार, 26 मार्च 2017
  • +

सीरीज में तीसरे शतक के साथ स्मिथ ने बनाया अटूट रिकॉर्ड

 Smith score Century in Dharmshala, a special record that no player could break
  • शनिवार, 25 मार्च 2017
  • +

IndVsAus: रांची टेस्ट ड्रॉ, बेअसर रहे भारतीय गेंदबाज

India Vs Australia 2017 Third Test Live From Ranchi Day 5
  • सोमवार, 20 मार्च 2017
  • +

चौथे टेस्ट से बाहर हो सकते हैं कोहली, अय्यर को बुलावा

Shreyas Iyer Called By Team India As Back Up of Virat Kohli
  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +

चौथे दिन का खेल खत्म, बैकफुट पर ऑस्ट्रेलिया, भारत 129 रन आगे

India Vs Australia 2017 Third Test Live From Ranchi Day 4
  • रविवार, 19 मार्च 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top