आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

बिना केबल का रंगीन टीवी, 'आई हेट यू सचिन'

पंकज श्रीवास्तव

Updated Mon, 24 Dec 2012 03:39 PM IST
retirement of sachin shock for expectators
ऐसा भारत में ही हो सकता है जहां आप अपने 'भगवान' को कटघरे में खड़ा कर सवाल पूछ सकते हैं। यही नहीं उसकी काबिलियत पर उंगली उठाते हुए उसे यह 'पोस्ट' छोड़ने के लिए मजबूर भी कर सकते हैं। ऐसा ही कुछ क्रिकेट के 'युगपुरुष' सचिन तेंदुलकर के साथ भी हुआ।
सचिन ने क्रिकेट के सबसे रोमांचक संस्करण को अलविदा कह अपने प्रशंसकों को बहुत निराशा दी है। उनके 23 साल के क्रिकेट कैरियर में यह पहला मौका है जब उन्होंने मुझे इतना दुख दिया है। मेरे हिसाब से सचिन को अभी और वनडे क्रिकेट खेलना चाहिए था।

सचिन के वनडे क्रिकेट छोड़ने से कितना गहरा धक्का मुझे लगा है उसके कुछ कारण मैं आप लोगों से शेयर करना चाहता हूं--

1- मैं नास्तिक तो नहीं हूं पर भगवान को कम मानता हूं। जब सचिन वनडे मैचों में शतक के करीब पहुंचते हैं तो मैं पूरी तरह भगवान की प्रार्थना करने लगता हूं। मैं भगवान से कहता हूं कि हे भगवान सचिन का शतक जरूर पूरा करवा दें। सचिन ने मुझे भगवान में विश्वास करना सिखाया। आने वाले समय में अब ऐसा होना मुमकिन नहीं होगा।

2- क्रिकेट का प्रशंसक होने के अलावा मैं क्रिकेट खेलता भी हूं। मैच देखते हुए कभी-कभी मुझे लगने लगता है कि क्रिकेट बोरिंग हो रहा है। ऐसे में सचिन का शानदार स्ट्रेट ड्राइव मुझे इतना रोमांचित कर देता है कि मैं क्रिकेट से फिर प्यार करने लगता हूं। सचिन के जाने के बाद अब शायद मेरा क्रिकेट से प्यार कम होने लगेगा।

3- सचिन जब बल्लेबाजी करने उतरते हैं तो पूरा भारत एक साथ उनके स्वागत में खड़ा हो जाता है। यह हमारी अखंडता को दर्शाने का बेहतरीन उदाहरण है। अब जब सचिन मैदान पर नहीं उतरेंगे तो हम भारतवासी कितनी बार एक साथ होंगे इस पर संदेह है।

4- सचिन जब मैदान पर उतरते हैं तो उनको देखते हुए मैं अपना ध्यान उनके खेल पर कें‌द्रित करता हूं। इस कारण मेरे अंदर concentration power बहुत बढ़ती है। अब सचिन का खेल देखे बगैर मैं इस पॉवर को नहीं बढ़ा पाउंगा।

5- मैने जब से क्रिकेट खेलना और देखना शुरू किया तब से सचिन को ही पसंद करता हूं। सचिन का वनडे क्रिकेट छोड़ने के बाद अब मेरे लिए क्रिकेट वैसे ही जैसे बिना केबल का रंगीन टीवी।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

ICC रैंकिंग: स्टीव ओ'कीफ की ऊंची छलांग, अश्विन-जडेजा और विराट को हुआ नुकसान

  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

सोशल मीडिया पर भद्दे कमेंट्स से निपटेगा गूगल का नया टूल

  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

सेक्स में चरम सुख की कुंजी क्या है? शोध में हुआ खुलासा

  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

LG G6 लॉन्च, 30 मिनट तक पानी में रह सकता है फोन

  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

सावधान ! चीनी के सेवन से जा सकती है याददाश्त

  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

Most Read

कप्तान एमएस धोनी ने फिर दिखाया दम, जड़ा तूफानी शतक

Vijay Hazare Trophy: Dhoni cracks ton against Chattisgarh
  • रविवार, 26 फरवरी 2017
  • +

IndVsAus: घर के शेर पुणे में ढेर, कंगारुओं ने 333 रनों से हराया

LIVE: India Vs Australia first Test Match in Pune Day Three
  • शनिवार, 25 फरवरी 2017
  • +

ऑस्ट्रेलिया की गिरफ्त में मैच, भारत को उम्मीद

LIVE: India Vs Australia first Test Match in Pune Day two
  • शुक्रवार, 24 फरवरी 2017
  • +

IndVsAus: पहले दिन स्टार्क ने बचाई कंगारुओं की लाज

LIVE: India Vs Australia first Test Match in Pune Day One 
  • गुरुवार, 23 फरवरी 2017
  • +

IPLनीलामी: 14.5 करोड़ में बिके स्टोक्स, ईशांत और इरफान को नहीं मिले खरीददार

Live: IPL10: Auction starts in banglore
  • मंगलवार, 21 फरवरी 2017
  • +

जब 'हमर' छोड़ 'ट्रेन' से मैच खेलने निकले माही

MS dhoni Reached Jharkhand by train after 13 years
  • बुधवार, 22 फरवरी 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top