आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

राजस्थान

बेचारी विधाएं

{"_id":"82cd9dec-fe4d-11e1-a185-d4ae52ba91ad","slug":"poor-genres","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u092c\u0947\u091a\u093e\u0930\u0940 \u0935\u093f\u0927\u093e\u090f\u0902","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

रवींद्र त्रिपाठी

Updated Thu, 25 Oct 2012 11:12 AM IST
poor genres
नाटक की स्थिति तो पहले से दर्दनाक है ही, निबंध जैसी विधा, जो किसी भी साहित्य या भाषा की बौद्धिकता और कसाव के लिए अनिवार्य है, वो भी बेहद चिंताजनक हालत में है। संस्मरण, जीवनी, आत्मकथा, रेखाचित्र, यात्रा-लेखन वगैरह का भी बुरा हाल है। हालांकि ऐसा नहीं है कि इन विधाओं में लेखन नहीं हो रहा है। कुछ लोग थोक के भाव लिखे जा रहे हैं। लेकिन जिसे गुणवत्ता वाला लेखन कहते हैं, वो नहीं आ रहा है।
आकस्मिक नहीं कि अगर नामवर सिंह, राजेंद्र यादव या अशोक वाजपेयी जैसे किसी नामी-गिरामी लेखक से पूछें कि हिंदी के समकालीन दस अच्छे निबंधकारों के नाम बताइए तो उन्हें भी बहुत समस्या होगी। जैसे-जैसे हिंदी में पत्र-पत्रिकाओं की संख्या बढ़ रही है, वैसे-वैसे अलग-अलग विधाओं में अच्छे लेखकों की संख्या कम हो रही है। अजब विरोधाभास है।

बीसवीं सदी के आरंभिक वर्षों में हिंदी में जो बड़े लेखक सक्रिय हुए वे कई विधाओं में लिखते थे। रामचंद्र शुक्ल ने आलोचना के अलावा श्रेष्ठ निबंध लिखे। हजारी प्रसाद द्विवेदी अज्ञेय, निर्मल वर्मा जैसे लेखकों ने कई विधाओं में लिखा। पर आज का कवि अकसर सिर्फ कवि होता है। कहानीकार सिर्फ कहानीकार और उपन्यासकार सिर्फ उपन्यासकार। राजेंद्र्र यादव या मोहन राकेश तक की पीढ़ी के कथाकार कहानी पर आलोचनाएं लिखा करते हैं। लेकिन आज तो आलोचक भी सही ढंग की आलोचनाएं नहीं लिख पा रहे हैं। बाकी विधाओं में क्या लिखेंगे? आजकल अज्ञेय की जन्मशती बड़ी धूमधाम से मनाई जा रही है। लेकिन शायद ही कोई अज्ञेय भक्त ऐसा है, जो अपने आराध्य की तरह कई विधाओं में लिखता हो और अच्छा लिखता हो।

विधाओं की विविधता भाषिक सर्जनात्मकता के विविध रूपों के अनुसंधान की तरफ ले जाती हैं। नाटक के वाक्यों की वही भूमिका नहीं होती, जो किसी उपन्यास के वाक्यों की हो सकती हैं। कविता में शब्दों का प्रयोग और प्रभाव आलोचना की शब्द योजना से अलग होता है। हालांकि सिर्फ साहित्यकारों की इच्छा से ही विविध विधाओं में सक्रियता नहीं बढ़ती है। इसकी और भी वजहें हैं। जैसे पत्र-पत्रिकाएं। आज भी अंग्रेजी के बड़े विदेशी अखबारों में यात्रा लेखन को प्रमुख स्थान मिलता है। लेकिन हिंदी के अखबार-पत्रिकाएं वगैरह भी अपनी सोच और सक्रियता में सीमित होते जा रहे हैं। साहित्यिक पत्रिकाओं में भी निबंधों के लिए कोई जगह ही नहीं बची।

शायद निबंध पढ़ने वाले भी नहीं बचे। वैसे ये एक दुष्चक्र है। अगर पढ़नेवाले कम हैं, तो लिखनेवाले भी कम ही होंगे। और जब लिखनेवाले कम हैं, तो पाठक भी कम ही होंगे। ऐसे दौर में जब साइबर लेखन काफी फल फूल रहा है, ब्लॉग लेखन में काफी तेजी आई है, हिंदी में विधात्मक विविधता के लिए भी संभावनाएं बढ़ी हैं। दिक्कत है कि ज्यादातर ब्लॉगर आत्म प्रशंसा या परनिंदा में लगे हैं। दूसरी मुश्किल यह भी कि बड़े यानी उम्रदराज लेखक ‘कंप्यूटर छुआ नहीं माउस गही नहीं हाथ’ वाली स्थिति में हैं। ये दीगर बात है कि अगर इनको कहा जाए कि आइए जरा ‘ब्लाग और साहित्य’ विषय पर भाषण दीजिए, तो फट से तैयार हो जाते हैं।

भाषण दे भी आते हैं कि ऐसा होना चाहिए और वैसा होना चाहिए। लेकिन खुद कुछ करने के लिए तैयार नहीं होते। यही कारण है कि हिंदी में आजकल प्रवचनकार बढ़ रहे हैं। यही हाल रहा, तो हिंदी में एक दिन साहित्यिक बाबा इफरात में पाए जाएंगे। ‘नाटक कैसा होना चाहिए’ या ‘श्रेष्ठ निबंध कैसे लिखे जाएं’ जैसे विषयों पर प्रवचन देने के लिए सैकड़ों लोग तैयार मिलेंगे। लेकिन अच्छे नाटक लिखनेवाले इक्का-दुक्का लोग ही हैं।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

poor genres arts

स्पॉटलाइट

{"_id":"58467d654f1c1bfd64448423","slug":"dont-ignore-this-5-things-could-be-monetary-loss","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"\u0906\u0930\u094d\u0925\u200c\u093f\u0915 \u0928\u0941\u0915\u0938\u093e\u0928 \u0938\u0947 \u092c\u091a\u0928\u093e \u0939\u0948 \u0924\u094b \u0907\u0928 5 \u092c\u093e\u0924\u094b\u0902 \u0915\u094b \u0928\u091c\u0930\u0905\u0902\u0926\u093e\u091c \u092c\u200c\u093f\u0932\u094d\u0915\u0941\u0932 \u0928 \u0915\u0930\u0947\u0902","category":{"title":"Religion","title_hn":"\u0927\u0930\u094d\u092e","slug":"religion"}}

आर्थ‌िक नुकसान से बचना है तो इन 5 बातों को नजरअंदाज ब‌िल्कुल न करें

  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"584647a74f1c1bf959448687","slug":"lg-v20-launched-in-india-specifications-and-more","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"\u090f\u0932\u091c\u0940 V20 \u092d\u093e\u0930\u0924 \u092e\u0947\u0902 \u0932\u0949\u0928\u094d\u091a, \u092e\u093f\u0932\u0947\u0917\u093e \u092e\u0932\u094d\u091f\u0940 \u0935\u093f\u0902\u0921\u094b \u0914\u0930 \u0921\u094d\u092f\u0942\u0932 \u0915\u0948\u092e\u0930\u093e \u0938\u0947\u091f\u0905\u092a \u0915\u093e \u092e\u091c\u093e","category":{"title":"Gadgets","title_hn":"\u0917\u0948\u091c\u0947\u091f\u094d\u0938","slug":"gadgets"}}

एलजी V20 भारत में लॉन्च, मिलेगा मल्टी विंडो और ड्यूल कैमरा सेटअप का मजा

  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"584660394f1c1b104f448260","slug":"superfoods-to-prevent-breast-cancer","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"\u092a\u0941\u0930\u0941\u0937\u094b\u0902 \u0915\u094b \u092d\u0940 \u092c\u094d\u0930\u0947\u0938\u094d\u091f \u0915\u0948\u0902\u0938\u0930 \u0915\u093e \u0916\u0924\u0930\u093e, \u092f\u0947 \u0938\u0941\u092a\u0930\u092b\u0942\u0921\u094d\u0938 \u092c\u091a\u093e\u090f\u0902\u0917\u0947 \u0907\u0938\u0938\u0947","category":{"title":"Healthy Food ","title_hn":"\u0939\u0947\u0932\u094d\u200d\u0926\u0940 \u092b\u0942\u0921","slug":"healthy-food"}}

पुरुषों को भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा, ये सुपरफूड्स बचाएंगे इससे

  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"584676574f1c1bf95944884d","slug":"you-can-be-cashless-in-just-6-seconds","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"\u0938\u093f\u0930\u094d\u092b 6 \u0938\u0947\u0915\u0947\u0902\u0921 \u092e\u0947\u0902 \u0906\u092a\u0915\u094b \u0915\u0902\u0917\u093e\u0932 \u092c\u0928\u093e \u0938\u0915\u0924\u0940 \u0939\u0948 \u0911\u0928\u0932\u093e\u0907\u0928 \u092c\u0948\u0915\u093f\u0902\u0917, \u092c\u0930\u0924\u0947\u0902 \u0938\u093e\u0935\u0927\u093e\u0928\u0940 ","category":{"title":"Tech Diary","title_hn":"\u091f\u0947\u0915 \u0921\u093e\u092f\u0930\u0940","slug":"tech-diary"}}

सिर्फ 6 सेकेंड में आपको कंगाल बना सकती है ऑनलाइन बैकिंग, बरतें सावधानी

  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"58468e8f4f1c1be2594489f3","slug":"bigg-boss-swami-omji-pees-in-the-kitchen-area","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"BIGG BOSS: \u0938\u094d\u0935\u093e\u092e\u0940 \u0913\u092e\u091c\u0940 \u0928\u0947 \u0915\u093f\u091a\u0928 \u092e\u0947\u0902 \u0915\u0940 \u092f\u0947 \u0917\u0902\u0926\u0940 \u0939\u0930\u0915\u0924","category":{"title":"Television","title_hn":"\u091b\u094b\u091f\u093e \u092a\u0930\u094d\u0926\u093e","slug":"television"}}

BIGG BOSS: स्वामी ओमजी ने किचन में की ये गंदी हरकत

  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +

Most Read

{"_id":"5846ccd34f1c1b6576447b1e","slug":"amma-s-absence-means","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u0905\u092e\u094d\u092e\u093e \u0915\u0947 \u0928 \u0939\u094b\u0928\u0947 \u0915\u093e \u0905\u0930\u094d\u0925","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

अम्मा के न होने का अर्थ

Amma's absence means
  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"584422d44f1c1be221a8625c","slug":"black-money-will-not-reduce-this-way","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u0915\u093e\u0932\u093e \u0927\u0928 \u0910\u0938\u0947 \u0915\u092e \u0928\u0939\u0940\u0902 \u0939\u094b\u0917\u093e","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

काला धन ऐसे कम नहीं होगा

Black money will not reduce this way
  • रविवार, 4 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"583ede844f1c1b0d1ede6c47","slug":"fidel-with-many-faces","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u0915\u0908 \u091a\u0947\u0939\u0930\u094b\u0902 \u0935\u093e\u0932\u0947 \u092b\u093f\u0926\u0947\u0932","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

कई चेहरों वाले फिदेल

Fidel with many faces
  • बुधवार, 30 नवंबर 2016
  • +
{"_id":"58417ebc4f1c1b0e1ede83dc","slug":"national-refugee-policy-needed","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u0930\u093e\u0937\u094d\u091f\u094d\u0930\u0940\u092f \u0936\u0930\u0923\u093e\u0930\u094d\u0925\u0940 \u0928\u0940\u0924\u093f \u0915\u0940 \u091c\u0930\u0942\u0930\u0924","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

राष्ट्रीय शरणार्थी नीति की जरूरत

National refugee policy needed
  • शुक्रवार, 2 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"5846cde74f1c1b9b19448581","slug":"political-splatter-on-army","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u092b\u094c\u091c \u092a\u0930 \u0938\u093f\u092f\u093e\u0938\u0924 \u0915\u0947 \u091b\u0940\u0902\u091f\u0947","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

फौज पर सियासत के छींटे

Political splatter on Army
  • मंगलवार, 6 दिसंबर 2016
  • +
{"_id":"584421e74f1c1b5222a86274","slug":"modi-s-stake-and-the-opposition-breathless","type":"story","status":"publish","title_hn":"\u092e\u094b\u0926\u0940 \u0915\u093e \u0926\u093e\u0902\u0935 \u0914\u0930 \u092c\u0947\u0926\u092e \u0935\u093f\u092a\u0915\u094d\u0937","category":{"title":"Opinion","title_hn":"\u0928\u091c\u093c\u0930\u093f\u092f\u093e ","slug":"opinion"}}

मोदी का दांव और बेदम विपक्ष

Modi's stake and the opposition breathless
  • रविवार, 4 दिसंबर 2016
  • +
CLOSE
  • Close This
  • Close for Today
NEWS FLASH

बिना पूछे 19 साल की एक्ट्रेस के साथ किया रेप के सीन का शूट

 
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top