Breaking News in Hindi Saturday, October 25, 2014

Home > State > Uttarakhand > uttarkashi

उत्तर काशी

यमुना को मायके में ही घर नसीब नहीं

बड़कोट(उत्तरकाशी)। अपने भक्तों के सुख, शांति और समृद्धि का मार्ग प्रशस्त करने वाली मां यमुना अपने मायके में ही बेघर है। शीतकालीन प्रवास के दौरान खरसाली में यमुना जी की उत्सव मूर्ति को पुराने जर्जर भवन में रखा जाता है।

शीतकाल के लिए बंद हुए गंगोत्री मंदिर के कपाट

उत्तरकाशी। अन्नकूट के पावन पर्व पर शुक्रवार को दोपहर 12 बजकर 50 मिनट पर विधि विधान के साथ गंगोत्री मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। गंगोत्री से गंगा जी की भोग मूर्ति को डोली यात्रा के साथ तीर्थ पुरोहितों के गांव मुखबा रवाना किया गया।

आज बंद होंगे यमुनोत्री मंदिर के कपाट

बड़कोट। यमुनोत्री धाम के कपाट भैया दूज के पावन पर्व पर शनिवार को अभिजीत मुहूर्त में दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर शीतकाल के लिए बंद किए जाएंगे।मंदिर समिति के सचिव पुरुषोत्तम उनियाल एवं सहसचिव मनमोहन उनियाल ने बताया कि शनिवार को प्रात: आठ बजे खरसाली से यमुना के भाई समेश्वर(शनि) देवता की डोली यमुनोत्री के लिए रवाना होगी।

गंगोत्री मुखबा से शीतकालीन यात्रा आज से

उत्तरकाशी। संसदीय सचिव गंगोत्री विधायक विजयपाल सजवाण शनिवार को गंगोत्री मुखबा से शीतकालीन यात्रा का शुभारंभ करेंगे। उन्होंने कहा कि शीतकालीन यात्रा से जहां देश-विदेश से आने वाले यात्री तीर्थ मंदिरों में पूजा-अर्चना के पुण्य लाभ के साथ प्रकृति के नजारों का लुत्फ ले सकेंगे, वहीं स्थानीय यात्रा कारोबारियों को भी इससे लाभ मिलेगा।

अब आई ईको सेंसिटिव जोन के जोनल प्लान की याद

उत्तरकाशी। ईको सेंसिटिव जोन की अधिसूचना जारी होने के करीब दो साल बाद अब प्रशासन ने जोनल प्लान की कवायद शुरू की है। डीएम सी रविशंकर ने सड़क, भवन आदि निर्माण से जुड़े विभागों से निर्माणाधीन एवं प्रस्तावित योजनाओं की सूची उपलब्ध कराने को कहा है।

मिलावट का पता लगाने को नहीं हैं अफसर

उत्तरकाशी। त्योहारी सीजन में मिलावटखोरों तथा बासी खाद्य सामग्री बेचने वालों पर नकेल कसने की जिले में कोई तैयारी नहीं है। जिले में छह के सापेक्ष महज एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी तैनात होने से विभाग की गतिविधियां शिथिल पड़ी हैं।

गंगा के लिए मुखबा, यमुना के लिए खरसाली सजा

उत्तरकाशी। गंगा-यमुना के शीतकालीन प्रवास मुखबा और खरसाली गांव सज गए हैं। जहां दोनों धामों से व्यापारियों ने सामान समेटना शुरू कर दिया है, वहीं यात्रा पड़ावों के व्यापारियों में शीतकालीन यात्रा को लेकर उत्साह है।

दो साल बाद होगा माघ मेला, तैयारी शुरू

उत्तरकाशी। दो साल आपदा के कारण स्थगित हुए पौराणिक, सांस्कृतिक एवं विकास माघ मेले का इस बार आयोजन होगा। इसके लिए मेला आयोजक विभाग जिला पंचायत ने कवायद शुरू कर दी है।

स्वच्छता के लिए किया जागरूक

उत्तरकाशी। पर्यावरण शिक्षण केंद्र की ओर से ‘हैंड वाशिंग वीक’ मनाया गया। इस दौरान विभिन्न स्कूलों के बच्चों को स्वच्छता के लिए जागरूक किया गया।

विज्ञान महोत्सव में छाए बड़कोट के बाल वैज्ञानिक

उत्तरकाशी। जनपद स्तरीय विज्ञान महोत्सव में विभिन्न गतिविधियों में जीआईसी बड़कोट के छात्र-छात्राओं का प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा।राजकीय कीर्ति इंटर कालेज में दो दिनों तक चले विज्ञान महोत्सव में विभिन्न विद्यालयों से चयनित होकर आए बाल वैज्ञानिकों ने अपने मॉडल एवं परियोजनाएं प्रस्तुत कीं।
1 2 3 4 5 अगला

प्रमुख ख़बरें

पाक ने भारत को भेजी दिवाली की मिठाइयां

pakistan sends sweets to india on diwali. भले ही हर साल भारतीय सेना द्वारा पाक रेंजरों को दी जाने वाली मिठाई इस बार न दी गई हो, लेकिन पाक उच्चायुक्त ने दोनों...

बिहार में एक और दवा घोटाला

medicine scam in bihar. पीएमसीएच के बाद एनएमसीएच में भी बड़े पैमाने पर दवा की खरीददारी में अनियमितता पाई गईं है।...

नेपाल: बस खाई में गिरी, विदेशियों समेत 14 की मौत

fourteen died in nepal bus accident. नेपाल में मध्य पश्चिमांचल के बागमती जिले में यात्रियों से खचाखच भरी बस के गहरी खाई में गिरने से 14 लोगों की मौत हो गई।...