Breaking News in Hindi Saturday, November 22, 2014

Home > State > Uttar Pradesh > Hardoi

हरदोई

फैंसी ड्रेस में दिखे विविध रूप

हरदोई। आइडियल पब्लिक स्कूल के वार्षिकोत्सव के अवसर पर आयोजित फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में विविध रूप दिखाई दिए। बच्चों ने आकर्षक प्रस्तुति कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

‘चाकलेट खाने के बाद ब्रश जरूरी’

हरदोई। अमर उजाला व डाबर के तत्वावधान में शुक्रवार को डेंटल कैंप की शुरुआत की गई। महात्मा गांधी मार्ग स्थित ज्ञान स्थली स्कूल में निशुल्क डेंटल कैंप में कक्षा तीन से आठवीं तक सैकड़ों बच्चों के दांतों का दंत चिकित्सकों ने परीक्षण किया।

मुसीबत बने आवारा जानवर

पिहानी (हरदोई)। कसबे में पशुओं की आवारागर्दी लोगों के लिए बवाल-ए-जान बनती जा रही है। नगर पालिका प्रशासन आवारा जानवरों के लिए कतई गंभीर नहीं, जिससे लोगों की यह मुसीबत रोजाना विकराल होती जा रही है।

मां-बेटे को दबंगों ने पीटा

हरदोई। जिला अस्पताल में एक्सरे करा रहे घायल मां बेटे को दबंगों ने घेर लिया और हमला बोल दिया। इससे वहां पर हड़कंप मच गया।

हादसों में तीन की मौत

बिलग्राम/हरदोई। निर्माणाधीन मकान के गेट का लिंटर खोलते समय मजदूर मलबा गिरने से दब गया, जिससे उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही परिजनों का कोहराम मच गया, वहीं पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया।

‘किताबों की उपयोगिता खत्म नहीं’

पिहानी। जवाहर नवोदय स्कूल में मनाए गए पुस्तक सप्ताह के तहत आयोजित कई प्रतियोगिताओं के विजेता बच्चों को जीडीसी पिहानी के डा. विनोद कुमार व जेएनवी के प्रधानाचार्य जुबैर अहमद ने पुरस्कार बांटे। इस मौके पर वक्ताओं ने आधुुनिक समय में पुस्तकों के महत्व पर प्रकाश डाला।

आठ स्कूलों में ताला लटका मिला

हरदोई। परिषदीय स्कूलों में टीचरों की उपस्थित सुनिश्चित कराने को शुक्रवार को ब्लाक शाहाबाद व टड़ियावां में कराये गए सामूहिक निरीक्षण में आठ विद्यालयों पर ताला लटकता मिला। वहीं सात अध्यापक अनुपस्थित मिले।

सड़कों के किनारे बनेंगे साइकिल ट्रैक

हरदोई। प्रदेश में साइकिल यातायात को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से अब सड़कों के किनारे साइकिल ट्रैक बनाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रमुख सचिव की ओर से डीएम को जारी पत्र में बताया गया है कि विश्व के कई देशों में साइकिल यातायात ज्यादा किया जाता है।

‘संकीर्णता भाषा में नहीं सोच में’

हरदोई। भाषा को मजहब से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। भाषा के संदर्भ में हमें संकीर्णता में नहीं जाना चाहिए।

करोड़ों खाक, पर नहीं पहुंचा पानी

हरदोई/संडीला/सवायजपुर। नहरों एवं रजबहों की सफाई कराकर टेल तक पानी पहुंचाने को करोड़ों रुपये खर्च होते हैं। इसके बाद भी किसानों को फसलों की सिंचाई को भरपूर पानी नहीं मिल पाता है।
1 2 3 4 5 अगला

प्रमुख ख़बरें

'क्षेत्रीय भाषाओं के इस्तेमाल से बढ़ेगी जीडीपी' पर कैसे?

use of local languages may boost gdp says smriti irani. मानव संसाधन विकास मंत्री ने स्मृति ईरानी ने कहा है कि क्षेत्रीय भाषाओं के इस्तेमाल से देश की जीडीपी बढ़ेगी। पर कैसे?...

ये छह वीडियो देखकर आप भी शाबाशी देंगे!

talented indian kid VIDEO इन दिनों एक बच्ची को पूरा देश ढूंढ रहा है। आप भी जानिए आखिर क्या है पूरा मामला।...

भारतीय कप्तान ने कुछ यूं दिया मैक्ग्रा को जवाब

We can beat Australia in their own backyard, says virat Kohli. कार्यवाहक कप्तान कोहली ने अपने अंदाज में ही ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान क्रिकेटर ग्लेन मैक्ग्रा को जवाब दिया है।...