Breaking News in Hindi Sunday, October 26, 2014

Home > State > Uttar Pradesh > Budaun

बदायूं

पीड़ित परिवार बोला, पॉलीग्राफी टेस्ट पर भरोसा नहीं

बदायूं। कटरा सआदतगंज कांड के मुख्य गवाह बाबूराम पर उंगली उठने के बाद पीड़ित परिवार सीबीआई की जांच के खिलाफ भी मुखर होने लगा है। छोटी लड़की के पिता और भाई ने कहा है कि उनको पॉलीग्राफी टेस्ट पर भरोसा नहीं है।
The bodies of the murdered wife hid in bed

पत्‍नी की हत्या कर शव बेड में छिपाया

पति ने पत्नी की हत्या कर शव को बेड में छिपा दिया और किसी को खबर भी नहीं लगी। कैसे हुआ हत्याकांड का खुलासा पढ़ें...

तहसील दिवस में कोटेदार के खिलाफ किया प्रदर्शन

बदायूं। तहसील दिवस में कोटेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने से पहले रिजोली के पूर्व प्रधान सूरज पाल सिंह यादव और बीडीसी सदस्य ओमेंद्र यादव ने ग्रामीणों के साथ प्रदर्शन किया। उनका आरोप है कि कोटेदार ग्रामीणों को राशन वितरण नहीं करता है।

लखनऊ में तैयार हो रही नए कॉलेज की डिजाइन

बदायूं। सपा शासन में जिले को मिले तोहफों में राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज भी है। नॉर्मल स्कूल के खंडहर में इसके लिए मंजूरी मिली है।

दौड़ के दौरान छात्रों में हुआ झगड़ा

आसफपुर (बदायूं)। आसफपुर क्षेत्र के त्रिवेणी सहाय इंटर कॉलेज का मैदान उस वक्त विवाद का अखाड़ा बन गया जब दौड़ लगा रहे खिलाड़ियों ने बेइमानी का आरोप लगाते हुए झगड़ा शुरू कर दिया। शिक्षक, प्रधानाचार्य भी छात्रों को अनुशासन में नहीं रख सके तो पुलिस बुलानी पड़ी।

तीन दिन से बंद है आम रास्ता

दायूं। लावेला से कांग्रेस दफ्तर जाने वाला मार्ग नगर परिषद के ठेकेदार ने तीन दिनों से बंद कर रखा है। आम रास्ता और वह भी मुख्य चौराहे से जुड़ा होने के बावजूद इस ओर नगर परिषद प्रशासन का ध्यान भी नहीं है।

ये शौचालय हैं या बटिया

बदायूं। जिले में निर्मल भारत अभियान के तहत शौचालयों का निर्माण कार्य पिछले दो वर्षों से केवल समग्र गांवों में ही निर्धारित किया गया है। शर्तों और नियमों के आधार पर सभी गांव वाले इसका लाभ नहीं ले सकते।

अब्दुल्लाह की मौत की वजह फांसी

उझानी (बदायूं)। तीन दिन पहले डिलौर गांव के अब्दुल्ला की मचान से लटकी मिली लाश के मामले में मौत की वजह साफ हो गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर गौर करें तो हैंगिंग की वजह से किशोर ने दम तोड़ दिया था।

स्टिंग आपरेशन: लोन के लिए भी हुई जेब गरम

बदायूं। आखिर कब तक सहा जाए। बेरोजगारों को लोन स्वीकृत करने में भी रिश्वत चाहिए।

चालीस कोटेदारों पर डाला जुर्माना

दातागंज। बड़ा मारे और रोने भी न दे, यह कहावत क्षेत्रीय कोटेदारों पर सटीक बैठ रही है। रोस्टर के मुताबिक मिट्टी का तेल निर्धारित तिथि पर न उठाने पर चालीस कोटेदारों पर दो-दो हजार रुपये का जुर्माना डाला गया है।
1 2 3 4 5 अगला

प्रमुख ख़बरें

झारखंड के भटिंडा फाल्स में डूबकर यूपी के छात्र की मौत

up student drowned in bhatinda. झारखंड में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। इंडियन स्कूल ऑफ माइन्स (आईएसएम) में पढ़ने वाले यूपी के एक छात्र की शनिवार को पुटकी के...

ऑस्ट्रेलिया पर जीत के करीब पाकिस्तान

pakistan closer to victory over australia दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान जीत के करीब पहुंच गया है।...

ISL: दिल्ली ने चेन्नई को 4-1 से धोया

delhi defeat chennai in isl. मेजबान दिल्ली डायनामोस एफसी ने इंडियन सुपर लीग फुटबॉल में चेन्नईयन एफसी टीम पर 4-1 से धमाकेदार जीत दर्ज की।...