बालू ठेकेदारों का सिंडिकेट नहीं घटा रहा दाम

Home›   City & states›   बालू ठेकेदारों का सिंडिकेट नहीं घटा रहा दाम

Varanasi Bureau

सोनभद्र। बालू ठेकेदारों का सिंडिकेट डीएम के बार बार लिखित आदेश करने के बाद भी बढ़े दाम घटाने को तैयार नहीं है। पिपरीडीह और नगवां में साइट के संचालक भी मंहगे दाम पर बालू ट्रकों पर लोड कराते रहे। यहां के मुंशियों का कहना है कि तीन महीने बालू खनन बंद था। ऐसे में टेंडर का धन और मुनाफा भी तो निकालना है। वहीं गुरुवार को डीएम के वहां पेश होकर खेवंधा और कात्यानी साइट संचालकों ने चार हजार से लेकर पांच हजार रुपये प्रति ट्रक बालू का दाम घटा दिया है। बताते चलें कि एक जुलाई से 30 सितंबर तक जिले में बालू खनन पर रोक था। एक अक्तूबर से बालू की साइटें शुरू तो हुई मगर मनमानी दाम पर बालू बिकने लगा। खेवंधा और कात्यायनी बालू साइट ने प्रति ट्रक दाम डेढ़ से दो हजार रुपये बढ़ाया तो दुद्धी के पिपरडीह और नगवां में पांच हजार से लेकर दस हजार प्रति ट्रक रेट बढ़ा दिया गया। 14 चक्का 35 हजार में तो 12 चक्का 30 हजार में बालू बेचने लगे। अमर उजाला ने पिपरडीह और नगवां बालू साइट पर मनमानी दाम लेने की खबर प्रकाशित की डीएम ने संज्ञान लेकर तत्काल बरसात से पूर्व के दाम पर ही बालू बेचने के सख्त निर्देश दिए। मगर ठेकेदारों का मनमानी बंद नहीं हुई। गुरुवार को खेवंधा और कात्यानी के ठेकेदार डीएम के वहां पेश होकर दाम घटाने की जानकारी दी। गुरुवार को दोपहर 12 बजे के बाद से खेवंधा बालू साइट पर छह चक्का 14 हजार, दस चक्का 18 हजार और 12 चक्का बालू 22 हजार में बिकने लगा था। छह और दस चक्का में चार चार हजार जबकि 12 चक्का में पांच हजार का दाम कम हुआ है। इसी तरह कात्यानी साइट पर 10 चक्का का दाम 30 हजार से 25 हजार, 12 चक्का 27 से 22 हजार और 14 चक्का बालू का दाम 30 से 25 हजार हो गया है। मगर पिपरडीह और नगवां में आज भी नये दाम पर बालू लोड हो रहा है। वहीं डीएम आज भी प्रेस विज्ञत्ति जारी कर कहा कि सभी खनन पट्टा धारकों को सीमा स्तंभों के प्रदर्शन के साथ ही खनन मानकों को पूरा करने के निर्देश दिया जाता है। बालू के संबंधित पट्टाधारकों को बरसात से पहले जिस रेट में बालू बेचा जा रहा था, उसी रेट पर बालू बेचे। बरसात से पहले निर्धारित दर से ज्यादा दर लेने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

दिवाली पर ये हैं लक्ष्मी पूजन के तीन शुभ मुहूर्त, इस विधि से करेंगे पूजा तो हो जाएंगे मालामाल

जानिए आखिर कैसे टूटी हनीप्रीत, कैसे कबूला जुर्म, असली सच आया सामने?

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे