नौनिहालों के फल पर छाए संकट के बादल

Home›   City & states›   नौनिहालों के फल पर छाए संकट के बादल

Lucknow Bureau

नौनिहालों के फल पर छाए संकट के बादलसीतापुर। नौनिहालों को मिलने वाले फलों पर संकट के बादल छा गए हैं। एक सप्ताह से इस योजना का बजट समाप्त हो गया है। इससे बच्चों को फल नहीं मिल पा रहे हैं। जिम्मेदारों ने बजट को लेकर शासन को पत्र लिखा है।परिषदीय विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को मध्याह्न भोजन के साथ फल दिए जाते हैं। फल सप्ताह में केवल एक दिन सोमवार को वितरित किए जाते हैं। इस योजना के पीछे शासन की मंशा थी कि बच्चों को स्कूल में भोजन के साथ फल भी दिए जाएं तो उनका तन-मन चुस्त-दुरुस्त रहेगा। इसके लिए प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रति नौनिहाल चार रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। इस बजट से बच्चों को मौसमी फल दिए जाते हैं। अभी तक नए सत्र में नौनिहालों को नियमित रूप से फल दिए जा रहे थे लेकिन सितंबर में फल योजना का बजट समाप्त हो गया है। यह हाल तब है जब बेसिक शिक्षा विभाग बजट के लिए पत्र लिख चुका है। बजट आज तक नहीं आ सका। इससे नौनिहालों को फल नहीं मिल पा रहे हैं। एक सप्ताह से करीब पांच लाख नौनिहाल फल के लिए तरस रहे हैं।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

सलमान खान के लिए असली 'कटप्पा' हैं शेरा, एक इशारे पर कार के आगे 8 km तक दौड़ गए थे

6000 लड़कियों ने 'बाहुबली' को शादी के लिए किया था प्रपोज, सबको ठुकरा थामा इस हीरोइन का हाथ

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

बिहार की लड़की ने प्रेमी की डिमांड पर पार की सारी हदें, दंग रह गए लोग

कपाट बंद होने के वक्त केदारनाथ धाम में हुआ 'चमत्कार', देखकर अचंभित हुए सब