डॉक्टरों ने गांधीगीरी दिखा हिंसा के खिलाफ उठाई आवाज

Home›   City & states›   doctors raised voioce against voilence

हरदाेई

doctors raised voioce against voilencePC: अमर उजाला

हिंसा की रोकथाम के लिए सख्त कानून बनाने की मांग कर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के बैनर तले सोमवार को डॉक्टरों ने कलक्ट्रेट में गांधीगीरी दिखाई। उन्होंने अनशन कर हिंसा के खिलाफ अपनी आवाज उठाई। अनशन पर बैठे आईएमए जिला शाखा के अध्यक्ष डॉ. जेके वर्मा ने कहा कि चिकित्सकों पर हिंसा की रोकथाम के लिए सख्त कानून बनाया जाए। ताकि चिकित्सक भयमुक्त होकर सेवा दे सकें। कहा कि पीसीपीएनडीपी एक्ट में अल्ट्रासाउंड को लेकर जो कानून बनाया गया है, इसमें लिंग परीक्षण करने पर ही सजा दी जाए। फार्म या अन्य लिखापढ़ी में कमी पाए जाने पर सजा न दी जाए। वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. सीपी कटियार ने कहा कि क्लीनिकल स्टेबलिशमेंट एक्ट 2010 को खत्म किया जाए। देश में जमीनी तौर पर ये अव्यवहारिक है। इस मौके पर डॉ. सीके गुप्ता, डॉ. आरपी गुप्ता, डॉ. तिरुपति आनंद, डॉ. अरुण मौर्या, डॉ. आनंद गुप्ता, डॉ. अमित मिश्रा, डॉ. सुयश खरे, डॉ. एके सिंह, डॉ. जय प्रकाश, डॉ. आरसी अग्रवाल आदि मौजूद रहे।
Share this article
Tags: health ,

Most Popular

कपाट बंद होने के वक्त केदारनाथ धाम में हुआ 'चमत्कार', देखकर अचंभित हुए सब

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

26 अक्टूबर को शनि बदलेंगे अपनी चाल, 3 राशि से हटेंगी शनि की तिरछी नजर

पहली ही जंग में आमिर की 'सीक्रेट सुपरस्टार' से आगे निकली अजय की 'गोलमाल अगेन'

पार्टी में अमिताभ बच्चन की पोती से मिलीं रेखा, ऐश्वर्या ने कहा कुछ ऐसा जिससे बिग बी को होगा गर्व