टांड़ा गांव में बाघ की दहाड़ से रात भर सो नहीं सके ग्रामीण

Home›   City & states›   टांड़ा गांव में बाघ की दहाड़ से रात भर सो नहीं सके ग्रामीण

Lucknow Bureau

सुजौली (बहराइच)। सुजौली रेंज के टांड़ा गांव में बुधवार रात जंगल से निकलकर बाघ पहुंच गया। उसकी दहाड़ से ग्रामीण जग गए। सभी ने हांका लगाना शुरू किया तो काफी देर बाद बाघ जंगल की ओर गया। दहशतजदा ग्रामीण पूरी रात सो नहीं सके। मशाल जलाकर रह-रह कर हांका लगाते रहे। सुबह गांव पहुंचे वन रक्षक ने पदचिन्हों से बाघ के आमद की पुष्टि की। ग्रामीणों को बचाव के उपाय सुझाते हुए सजग रहने को कहा। कतर्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र के सुजौली रेंज अंतर्गत टांड़ा गांव जंगल से सटा हुआ है। बुधवार रात 10 बजे के आसपास बाघ जंगल से निकलकर गांव में पहुंच गया। संयोग से उस समय गांव के लोग घरों के अंदर थे। बाघ की दहाड़ से सभी दहशत में आ गए। ग्रामीणों ने खिड़की और किवाड़ से झांक कर बाघ को देखा तो सभी सुरक्षा को लेकर सशंकित हो उठे। घर के अंदर से गांव के लोगों ने शोर मचाना शुरू किया। मशाल जलाकर हवा में लहराया। लगभग दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद बाघ गांव से खिसका। लेकिन खौफजदा ग्रामीण घर के बाहर नहंी निकले। रात में ही रेंज कार्यालय को सूचना दी गई। सुबह वन रक्षक मोहर नाथ मिश्र ने टीम के साथ गांव पहुंचकर पदचिन्हों से बाघ के आमद होने की पुष्टि की। वन रक्षक ने बताया कि बीते कई दिनों से गांव के आसपास बाघ का मूवमेंट है। उन्होंने ग्रामीणों को खेत और खलिहान में समूह में जाने की हिदायत दी। साथ ही बाघ की दहाड़ सुनने पर गोला पटाखा दगाकर आत्मरक्षा के उपाय भी बताए।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

कपाट बंद होने के वक्त केदारनाथ धाम में हुआ 'चमत्कार', देखकर अचंभित हुए सब

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

26 अक्टूबर को शनि बदलेंगे अपनी चाल, 3 राशि से हटेंगी शनि की तिरछी नजर

पहली ही जंग में आमिर की 'सीक्रेट सुपरस्टार' से आगे निकली अजय की 'गोलमाल अगेन'

पार्टी में अमिताभ बच्चन की पोती से मिलीं रेखा, ऐश्वर्या ने कहा कुछ ऐसा जिससे बिग बी को होगा गर्व