विदा हुईं महिषासुर मर्दिनी , सूने हो गए पूजा पंडाल

Home›   City & states›   Mahishasur Mardini, turned away, worshiped Pandal

अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद

Mahishasur Mardini, turned away, worshiped PandalPC: अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद

इलाहाबाद। शारदीय नवरात्र की पंचमी से शुरू हुआ दुर्गापूजा उत्सव शनिवार को प्रतिमा विसर्जन के साथ पूर्ण हुआ। पांच दिनों तक महिषासुर मर्दिनी की पूजा-अर्चना से जाग्रत हुए पूजा पंडाल देवी की विदाई के साथ सूने हो गए। बैंडबाजे की धुन पर थिरकते अबीर गुलाल उड़ाते हुए पंडालों से देवी की प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए ले जाया गया। घाटों पर गाजे बाजे के साथ पहुंचे भक्तों ने जयकारों के बीच रुंधे गले और छलकते आंसुओं के साथ मां भवानी को जल्दी आने की विनती के साथ विदा किया। रामघाट पर प्रशासन की ओर से तैयार कराए गए तालाब में अश्रुपूरित नेत्रों से श्रद्धालुओं ने ‘मां आश्छे बछोर आबार ऐशो’ कहकर उन्हें भावपूर्ण विदाई दी। विसर्जन को साथ गईं महिलाओं ने देवी से अगले वर्ष फिर आने की प्रार्थना की-‘मां तुमी जेई परमधाम थेके ऐशछो सेखाने आबार फेरोत जाओ आमरा सकले ऐई प्रार्थना जानाई।’ पहले सुबह ‘दधिकर्मा’ यानी दही चूड़े का प्रसाद ग्रहण करके पूजा पंडालों में दर्पण विसर्जन और ‘सिंदूरदान’ किया गया। महिलाओं ने मां को सिंदूर चढ़ाने के साथ आपस में एक दूसरे को गुलाल लगाया। प्रतिमाएं उठाकर गाड़ियों पर रखीं गईं। ढाक की थाप पर धुनूची लेकर उत्साह में झूमते-नाचते, गाते और एक-दूसरे को अबीर-गुलाल लगाया। जयकारों के बीच देवी प्रतिमा विसर्जन शोभायात्रा आरंभ हुई। प्रतिमा विसर्जन के बाद कलश में शांति जल भरा गया। उसे लेकर पूजा कमेटियों के लोग पूजा पंडाल पहुंचे। शांति जल छिड़का गया और एक दूसरे से गले मिले। डा. पीके राय के मुताबिक बृहस्पतिवार को लक्ष्मी पूजन होगा। कहा, जिस वेदी पर देवी दुर्गा की पूजा अर्चना होती है उस वेदी पर लक्ष्मी पूजन की परंपरा है। दुर्गापजा समिति एवं बंगाली वेलफेयर एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में आठ अक्तूबर को विभिन्न कमेटियों को विभिन्न वर्गों में पुरस्कृत भी किया जाएगा। कमेटी के पदाधिकारी उत्तम कुमार बनर्जी  के मुताबिक पुरस्कार वितरण समारोह कर्नलगंज स्थित महर्षि भारद्वाज विद्यामंदिर स्कूल में होगा। श्री रामबाग सार्वजनिन दुर्गा पूजा कमेटी के पूर्वोत्तर रेलवे रामबाग स्थित पूजा पंडाल में भजन संध्या का आयोजन हुआ। कलाकारों ने भक्ति संगीत सुनाकर मंत्रमुग्ध किया। बतौर मुख्य अतिथि उपमुख्यमंत्री केशवप्रसाद मौर्य मौजूद थे। व्यापारी नेता अमर वैश्य मुन्ना भइया, विधायक हर्षवर्धन बाजपेयी, अश्विनी अग्रवाल ने चांदी का मुकुट पहनाकर केशव मौर्या का स्वागत किया। संचालन डा. प्रमोद शुक्ला ने किया। इस अवसर पर आनंद मिश्रा, अभय श्रीवास्तव, आकाश जायसवाल आदि उपस्थित थे। 
Share this article
Tags: navratri ,

Most Popular

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

हर्षिता दहिया को पहले ही हो गया था मौत का अंदाजा, FB लाइव होकर किया था खुलासा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जानिए आखिरी FB लाइव में ऐसा क्या बोली थी हर्षिता दहिया, कुछ घंटे में हो गया मर्डर

पहली बार मिलने आई पत्नी से राम रहीम ने कही ऐसी बात, फूट-फूट कर रोई वो