अलीगढ़ में भी फल-फूल रहा आॅनलाइन ठगी का धंधा

Home›   Crime›   Aligarh also flourishes online cheat business

अमर उजाला ब्‍यूूराे

मीठी-मीठी बातों और लुभावने ऑफर से पहले ग्राहकों को जाल में फंसाया जाता है, फिर ब्रांडेड के नाम पर खराब सामान भेजकर उन्हें ठग लिया जाता है। यह धंधा इन दिनों अलीगढ़ से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों में खूब फल-फूल रहा है। इससे होने वाली कमाई के कारण डाक विभाग कोई ध्यान नहीं दे रहा है। पिछले दिनों हाथरस में पकड़े गए टेलीशॉपिंग के संचालकों से भी यही इनपुट मिला है। अलीगढ़ से संचालित इस ठगी के धंधे पर पुलिस की नजर टिक गई है। टेलीशॉपिंग और ऑनलाइन मार्केट से खरीदारी करने के लिए ग्राहकों के पास फोन आते हैं। खास बात यह होती है कि कॉल करने वाली युवतियां होती हैं। जब ग्राहक बातों में फंस जाता है, तब उससे ऑफर की बात की जाती है। ग्राहक ऑर्डर बुक कर देता है। इसके बाद डाक विभाग की मुख्य शाखा और रेलवे स्टेशन के पार्सल घर में पार्सल पैकेट पहुंचाया जाता है। इनकी तादाद प्रतिदिन 400 से 500 के बीच होती है। सुबह ही पार्सल जमा करने वालों की भीड़ जुट जाती है। इसके बाद डाक कर्मी पैकेट पर लिखे पते पर पार्सल पहुंचा देता है। मगर ग्राहक जब पैकेट खोलकर देखता है, तो उसे ठगी का अहसास होता है, जबकि डाककर्मी उसकी रकम लेकर जा चुका होता है।  टेलीशॉपिंग और ऑनलाइन मार्केट के लिए अलीगढ़ और हाथरस हब बनता जा रहा है। इस गोरखधंधे की खबर अमर उजाला में पहले भी प्रकाशित हो चुकी है। आए दिन इस तरह की ठगी की शिकायतों के बाद भी डाक विभाग सिर्फ अपने धंधे के फेर में आंखेें मूंदे बैठा है, जबकि इससे उसकी छवि पर भी बट्टा लग रहा है। नागरिक चेतना समिति के अशोक शर्मा व अधिवक्ता आरके तिवारी ने मुद्दा पोस्ट मास्टर जनरल तक पहुंचाने की बात कही है। पकड़ा गया संचालक हाथरस में अलीगढ़ रोड स्थित कैलाश महादेव मंदिर के पीछे माधव कुंज कॉलोनी में चल रहे संस्कार टेलीशॉपिंग सेंटर पर छापेमारी के दौरान पकड़ में आए सेंटर के संचालक के साले प्रवीन को पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया। पुलिस मुख्य आरोपी बृजेश की तलाश में दबिश दे रही है। पकड़े गए लोगों के मुताबिक, इस गोरखधंधे में डाक कर्मचारियों की मिलीभगत है। पुलिस की निगाह अलीगढ़ पर टिकी हाथरस जिले में कोतवाली हाथरस गेट पुलिस ने अब बृजेश को संरक्षण देने वाले लोगों पर भी शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है। पकड़े गए लोगों के बयान के आधार पर पुलिस की निगाह अब अलीगढ़ के डाक विभाग पर टिक गई है। पार्सल से निकला कागज पिछले दिनों एक ग्राहक के पास पार्सल पहुंचा, उसने पैकेट खोला तो उसमें कागज और निमभन गुणवत्ता का जूता निकला, जबकि उसने ब्रांडेड कंपनी के जूते का ऑर्डर दिया था। चूंकि डाककर्मी पहले ही पार्सल पैकेट का पैसा ले लेते हैं, इसलिए उनके पास सिर्फ माथा पीटने के अलावा कुछ नहीं होता है।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

दिवाली पर ये हैं लक्ष्मी पूजन के तीन शुभ मुहूर्त, इस विधि से करेंगे पूजा तो हो जाएंगे मालामाल

जानिए आखिर कैसे टूटी हनीप्रीत, कैसे कबूला जुर्म, असली सच आया सामने?

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे