जीएसटी की मार, कपड़ा बाजार बेजार

Home›   City & states›   जीएसटी की मार, कपड़ा बाजार बेजार

Agra Bureau

जीएसटी की मार, कपड़ा बाजार बेजारPC: SOCIAL MEDIA

एटा। जीएसटी की मार से कपड़ा बाजार बेजार हो गया है। आलम यह है कि कपड़े के दामों में हुई बढ़ोतरी से लोग खरीदारी से तौबा कर रहे हैं। वहीं पांच से 18 फीसदी तक महंगे हो गए हैं। वहीं व्यापारी दीवाली को लेकर तैयार तो हैं, लेकिन बाजार के हाल पर मायूस भी हैं। दीवाली के त्योहारी सीजन को भुनाने के लिए व्यापारियों ने तैयारियां की हैं। दुकानें माल से भरी पड़ी हैं, लेकिन खरीदने वाले नदारद हैं। पिछले साल की तुलना में इस बार कपड़ों की बिक्री में 50 फीसदी तक गिरावट आई है। कपड़ा विक्रेता साबिर मियां का कहना है कि इस बार त्योहारी सीजन पर बिक्री में 15 प्रतिशत गिरावट आई है। कपड़ा व्यापार पहले टैक्स से मुक्त था। जीएसटी के बाद टैक्स के दायरे आने से व्यापार प्रभावित हो गया। बाजार में इस बार त्योहार जैसा माहौल नजर नहीं है। रेडीमेड व्यवसायी विनीत भारद्वाज कहते हैं ग्राहक को बिक्री के बाद बार बार रसीद देने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। टैक्स की वजह से कपड़ा महंगा हुआ है। रेडीमेड कपड़े पर पांच से 15 प्रतिशत तक टैक्स लगाया गया है। देहात की बिक्री पूरी तरह प्रभावित हो गई है। कपड़ा व्यापार के लिए सरकार की नीतियां पूरी तरह घातक हैं।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

रिलायंस जियो के बदल गए सभी प्लान, रिचार्ज कराने से यहां देखें पूरी लिस्ट

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

जानिए आखिर कैसे टूटी हनीप्रीत, कैसे कबूला जुर्म, असली सच आया सामने?

दिवाली पर ये हैं लक्ष्मी पूजन के तीन शुभ मुहूर्त, इस विधि से करेंगे पूजा तो हो जाएंगे मालामाल

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा