किसानों ने कैप्टन सरकार का पुतला फूंका

Home›   City & states›   किसानों ने कैप्टन सरकार का पुतला फूंका

Panchkula bureau

कैप्टन सरकार के विरोध में किसानों का प्रदर्शन सूबे भर से किसान नेताओं की गिरफ्तारियां करने की निंदा कीअमर उजाला ब्यूरोपटियाला।पुलिस प्रशासन की ओर से की गिरफ्तारियों से गुस्साए किसानों ने बुधवार को गांव सुल्तानपुर के फोकल प्वाइंट पर कैप्टन सरकार का पुतला फूंका। भारतीय किसान यूनियन एकता डकौंदा के बैनर तले जोरदार प्रदर्शन किया गया। किसानों ने रोष जताया कि कैप्टन सरकार की शह पर ही उनके मोती महल के सामने 22 सितंबर सेे दिए जाने वाले धरने को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने किसान नेताओं की पूरे सूबे में बड़े स्तर पर गिरफ्तारियां की हैं। यह उनके संवैधानिक अधिकारों का पतन है।यूनियन के ब्लॉक प्रधान मनजीत सिंह महिमदपुर, महासचिव हरचंद सिंह, खजांची जगतार सिंह, हरदेव सिंह तरोड़ा ने कहा कि मोती महल के सामने किसानों की ओर से 22 सितंबर से दिए जाने वाले 5 दिवसीय धरने को फेल करने के लिए सरकार के आदेशों पर पुलिस की ओर से गिरफ्तारियां की जा रही हैं। समाना सदर की पुलिस ने गांव पहाड़पुर से किसान नेता मखन सिंह, अवतार सिंह, जगतार सिंह, भगवान सिंह, जगदीश सिंह, बलकार सिंह, दुलड़ और तुलेवाल गांवों से भी किसानों को गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान उन्होंने किसान नेताओं की गिरफ्तारियों की निंदा करते हुए कहा कि सरकार किसानों की आवाज दबाना चाहती है, लेकिन यह नहीं होगा। फोटो नंबर--20पीटीएल01, 02त में अपनी मांगों को पूरा कराएंगे। उन्होंने किसानों को आंदोलन को मजबूत करने की अपील की।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

सलमान खान के लिए असली 'कटप्पा' हैं शेरा, एक इशारे पर कार के आगे 8 km तक दौड़ गए थे

6000 लड़कियों ने 'बाहुबली' को शादी के लिए किया था प्रपोज, सबको ठुकरा थामा इस हीरोइन का हाथ

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

बिहार की लड़की ने प्रेमी की डिमांड पर पार की सारी हदें, दंग रह गए लोग

BIGG BOSS 11: क्यों नहीं हुई प्रियांक शर्मा की घर में एंट्री, ये है नया ट्विस्ट