क्या गांधी नस्लभेद में यकीन करते थे?

Home›   India News Archives›   Do Gandhi believe in Apartheid?

Amit Tiwari

Do Gandhi believe in Apartheid?

महात्मा गांधी को उपनिवेश विरोधी, धार्मिक चिंतक, व्यावहारिक और विलक्षण प्रतिभा वाले व्यक्ति के तौर पर देखा जाता है जिन्होंने अहिंसा को उद्देश्य प्राप्ति के लिए हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया था। उन्हें एक चतुर राजनेता और पितृसत्तात्मक हिंदू समाज में यकीन रखनेवाले 'सनकी' के तौर पर भी देखा जाता है। लेकिन क्या भारत के सबसे बड़े नेता नस्लवादी भी थे?दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी के बिताए हुए दिनों और वहां उनके कामों पर किताब लिखने वाले एक लेखक का तो कम से कम यही मानना है। दक्षिण अफ्रीकी विद्वान अश्विन देसाई और गुलाम वाहिद ने 1893 से 1913 तक यानी लगभग बीस साल तक अपने देश में रहने वाले इस शख्स की जटिल जिंदगी की पड़ताल की है। गांधी ने वहां भारतीयों के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी थी। देसाई और गुलाम ने अपनी किताब 'द साउथ अफ्रीकन गांधी: स्ट्रेचर बीयरर ऑफ इंपायर' में लिखा है कि गांधी ने अपने दक्षिण अफ्रीका प्रवास के दौरान 'भारतीयों के संघर्ष को अफ्रीकियों और दूसरे काले लोगों के संघर्ष से अलग रखा।हालांकि रंग भेद के चलते उन्हें भी राजनीतिक अधिकारों से वंचित रखा गया था और वे भी ब्रिटेन की प्रजा होने का दावा कर सकते थे।' दोनों लेखक कहते हैं कि गैर बराबरी के कानून खत्म करने या मुक्त व्यापार के लिए गांधी ने जो रणनीति बनाई थी, उसने एक अलग भारतीय पहचान की स्थापना की। उनके अनुसार इस वजह से वो भारतीयों के मुद्दों को अफ्रीकियों से अलग कर उठा पाए और शुरूआती दिनों में गांधी का रवैया भी गोरों की तरह ही था।
आगे पढ़ें >>

'काफिर'

Share this article
Tags: mahatma gandhi , apartheid , south africa , india , hindi news , news in hindi , hindi samachar , hindi news headlines ,

Also Read

व्हाट्सऐप पर महात्मा गांधी का 'अपमान'

तब लादेन ने कहा था, महात्मा गांधी से प्रेरणा लो

गांधी का स्वराज और युवाओं की उम्मीदें

बापू अगर झुकते नहीं तो देश का विभाजन नहीं होता : संघ

Most Popular

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

हर्षिता दहिया को पहले ही हो गया था मौत का अंदाजा, FB लाइव होकर किया था खुलासा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जानिए आखिरी FB लाइव में ऐसा क्या बोली थी हर्षिता दहिया, कुछ घंटे में हो गया मर्डर

पहली बार मिलने आई पत्नी से राम रहीम ने कही ऐसी बात, फूट-फूट कर रोई वो