ज़्देन्येक वागनेर: चली जाओ अगर तुम जाना चाहती हो...

Home›   Vishwa Kavya›   ajandek wagner poems on lover departs

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

ajandek wagner poems on lover departs

चेक कविता चली जाओ -ज़्देन्येक वागनेर- चली जाओ अगर तुम जाना चाहती हो वहां तक जहां से व्योम-गंगा बहती है। तुम्हारी आंखों की चमकीली तारिकाएं मेरे दिल में से तो कभी ग़ायब न होंगी।  
Share this article
Tags: ajandek wagner , world kavya , kavya , shayari of ajandek wagner , ghazals of ajandek wagner , poems of ajandek wagner , collection of ajandek wagner , shayari and ghazal , 10 exceptional shayaris by ajandek wagner , best ghazals by ajandek wagner , ajandek wagner: legendary poet , shayari of life , philosophical shayari , sad shayari , political shayari , shayari of relation , shayari of wine ,

Most Popular

इस ऑनस्क्रीन भाई-बहन को एक-दूसरे से हुआ था प्यार, 15 साल की शादी के बाद आई बुरी खबर

हॉस्पिटल में ऐश्वर्या राय के साथ हुआ कुछ ऐसा, रोते हुए निकलीं बाहर

19 की उम्र में 27 साल बड़े डायरेक्टर से की थी शादी, जानें क्या है सलमान और हेलन के रिश्ते की सच

गर्दन कटने की धमकी के बीच शाहरुख-आमिर ने किया दीपिका को फोन, कही ऐसी बात

जन्मदिन मनाने गए थे, प्रेमिका ने प्रेमी को ऐसा तोहफा दिया ताउम्र नहीं भूलेगा

ट्रेन छूटने के डर से नहीं ले पाए ​टिकट तो घबराएं नहीं, बस ये काम कर लें