हवस में अंधा हुआ चपरासी, मासूम के साथ किया गलत काम

Home›   City & states›   Peon raped girl in hostel

अमर उजाला टीम डिजिटल/जयपुर

Peon raped girl in hostel

प्रदेश में बच्चों के साथ हो रहे अपराधों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अबकी बार छात्रावास के चपरासी ने ही मासूम को अपनी हवस का शिकार बना डाला। मामला कोटा का है। यहां के इटावा क्षेत्र के पीपल्दा कस्बे में कस्तूरबा गांधी छात्रावास के चपरासी ने एक मासूम को हवस का शिकार बनाया। घिनौनी हरकत के बाद आरोपी चपरासी मौके से फरार हो गया। पीड़ित बालिका की मां ने आज थाने में मामला दर्ज करवाया है। जानकारी के अनुसार, पीड़ित बालिका छात्रावास के पास ही रहती थी। आरोपी चपरासी सुबह करीब 8 बजे बालिका को बहला—फुसलाकर छात्रावास के भीतर ले गया और दुष्कर्म जैसे घिनौने कृत्य को अंजाम दिया। इसके बाद वह वहां से फरार हो गया। जब पीड़ित बालिका की मां उसे तलाशते हुए छात्रावास के तरफ गई तो बालिका ने रोते हुए उसे आपबीती बताई। ये सुनते ही पीड़िता की मां के पैरों तले जमीन खिसक गई। वह तुरंत थाने में पहुंची और पुलिस को पूरी घटना से अवगत कराया। मामले की जानकारी मिलने पर इटावा पुलिस अधीक्षक भोजराज सिंह और थाना प्रभारी संजय रॉयल ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया। अब पीड़ित बालिका का मेडिकल करवाया जा रहा है।  
Share this article
Tags: hindi news , rajasthan , hindi news in rajasthan , rajasthan news in hindi , hindi news in jaipur , jaipur news in hindi ,

Also Read

दवा लेने गई नाबालिग के साथ हुआ कुछ ऐसा कि पुलिस भी हैरान...

हैवानियत की हदें पार, चार 'बेटियां' बनी हवस की शिकार

किराएदार की मासूम बेटी घर पर थी अकेली, मौका पाकर मकान मालिक के बेटे ने कर दिया गंदा काम

कलयुगी बाप 9 महीने से कर रहा था अपनी नाबालिग बेटी का दुष्कर्म, ऐसे आया सच सामने 

Most Popular

बिहार की लड़की ने प्रेमी की डिमांड पर पार की सारी हदें, दंग रह गए लोग

आप रद्द करवा सकते हैं किसी भी पेट्रोल पंप का लाइसेंस, अगर नहीं मिलीं ये सेवाएं

पर्स में नहीं होनी चाहिए ये 5 चीजें, रखने पर होता है धन का नुकसान

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

कपाट बंद होने के वक्त केदारनाथ धाम में हुआ 'चमत्कार', देखकर अचंभित हुए सब

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज