वॉलीबाल चैंपियनशिप में पहले दिन बाबू वृषभान स्कूल का दबदबा

Home›   City & states›   वॉलीबाल चैंपियनशिप में पहले दिन बाबू वृषभान स्कूल का दबदबा

Rohtak Bureau

वॉलीबाल चैंपियनशिप में पहले दिन बाबू वृषभान स्कूल का दबदबाअमर उजाला ब्यूरोयमुनानगर। तीन दिवसीय सीबीएसई क्लस्टर वॉलीबाल चैंपियनशिप का बुधवार को नेशनल पब्लिक स्कूल में रंगारंग आगाज हो गया। स्टूडेंट्स की ओर से पेश किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने समां बांध दिया। इससे पहले मुख्य अतिथि एडीजीपी ओपी सिंह ने दीप जलाकर और ध्वजारोहरण कर प्रतियोगिता की शुरुआत की। मुख्य अतिथि ने मार्च पास्ट की सलामी ली। बाद में खिलाड़ियों को खेल भावना से खेलने के लिए प्रेरित किया। स्कूल के प्रबंधक आरएस पुंडीर ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिह्न भेंट किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला शिक्षा अधिकारी आनंद चौधरी ने की। प्रतियोगिता में हरियाणा और पंजाब के 62 स्कूलों की टीमें भाग ले रहीं हैं। पहले दिन बाबू वृषभान डीएवी पब्लिक स्कूल संगरूर का दबदबा रहा। स्कूल की टीम ने 12 में से दो मुकाबले जीते, जबकि एक मुकाबले का परिणाम अभी नहीं आ सका था।वॉलीबाल प्रतियोगिता के पहले दिन 12 मैच खेले गए। पहला मैच लड़कों के बीच खेला गया। अंडर-19 के इस मुकाबले में बाबू वृषभान डीएवी पब्लिक स्कूल संगरूर विजयी रहा। लड़कों के ही अंडर-17 मुकाबले में शाह सतनामजी स्कूल सिरसा ने जीत हासिल की। वहीं लड़कियों के अंडर -17 वर्ग में गुरु गोबिंद पब्लिक स्कूल मुक्तसर विजेता बना, जबकि दूसरे मुकाबले में कन्या गुरुकुल स्कूल कुरुक्षेत्र विजेता बना। लड़कों के अंडर-19 वर्ग के दूसरे मैच में हरिओम शिवओम पब्लिक स्कूल रादौर ने जीत हासिल की। लड़कों के अंडर-17 वर्ग में दूसरे मैच में बाबू वृषभान डीएवी पब्लिक स्कूल संगरूर ने बाजी मारी, जबकि लड़कों के अंडर-19 वर्ग के तीसरे मुकाबले में डीएवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल सकराला की टीम ने जीत हासिल की। अंडर 19 बालक वर्ग के चौथे मुकाबले में मुकट पब्लिक स्कूल मुक्तसर की टीम और पांचवें मुकाबले में संत ईस्सर सिंह पब्लिक स्कूल संगरूर विजेता बना। लड़कों के अंडर-17 वर्ग में तीसरे मुकाबले में लार्डराम पब्लिक स्कूल भटिंडा ने और चौथे मुकाबले में यूनिवर्सल पब्लिक सीनियर सेकेेंडरी स्कूल भटिंडा की टीम ने जीत हासिल की। स्टूडेंट्स के कार्यक्रम देख दबाईं दांतों तले अंगुलियांक्लस्टर वॉलीबाल चैंपियनशिप के शुभारंभ पर गीतांश, वरुण, परविंद्र, शिक्षा, आशका, दिव्या, सृष्टि, हिताक्षी और पायल ने गणेश वंदना पेश की। इसके बाद स्कूली बच्चों ने पंजाबी नृत्य, भंगड़ा और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर स्टूडेंट्स ने दातों तले अंगुलियां दबा लीं थीं।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

सलमान खान के लिए असली 'कटप्पा' हैं शेरा, एक इशारे पर कार के आगे 8 km तक दौड़ गए थे

6000 लड़कियों ने 'बाहुबली' को शादी के लिए किया था प्रपोज, सबको ठुकरा थामा इस हीरोइन का हाथ

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

बिहार की लड़की ने प्रेमी की डिमांड पर पार की सारी हदें, दंग रह गए लोग

कपाट बंद होने के वक्त केदारनाथ धाम में हुआ 'चमत्कार', देखकर अचंभित हुए सब