सीनियर के साथ कोर्ट पहुंचे डॉक्टर, लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए दिया सहमति पत्र

Home›   Crime›   सीनियर के साथ कोर्ट पहुंचे डॉक्टर, लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए दिया सहमति पत्र

Rohtak Bureau

अमर उजाला ब्यूरोरोहतक। पीजीआई के लेबर रूम से नवजात के चोरी होने के मामले में लाई डिटेक्टर टेस्ट से इनकार करने वाले डॉक्टरों ने सहमति जता दी है। बुधवार को सीनियर डॉक्टरों के साथ कोर्ट पहुंचकर पुलिस सूची में शामिल डॉक्टरों ने लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए सहमति पत्र सौंपा। इस दौरान डॉक्टर के अलावा स्टाफ हित कुल 13 लोगों ने लिखित में पत्र दिया। इसके बाद कोर्ट ने सभी का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने का आदेश दिया।एसआईटी ने पीजीआई के डॉक्टर सहित स्टाफ के 13 लोगों की लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए निर्देश दिये थे। यह सभी लोग बच्चा चोरी होने के दिन विभाग में ही ड्यूटी कर रहे थे। मामले से जुड़े नौ सदस्यों ने टेस्ट के लिए सहमति जता दी थी, लेकिन डॉक्टरों ने इनकार कर दिया था। बुधवार को डॉ. निशा, डॉ. गीतांजली, डॉ. हिना फातिमा, डॉ. जहां सहित नर्स बलजीत कौर, रश्मि, सुदेश, सुनीता, बेयरर रानी, निर्मला, स्वीपर मंजू, संतोष और मरीज के सहायक सुशीला और सोना कोर्ट में पहुंची। यहां पर सभी ने लिखित में सहमति पत्र पेश किया। वहीं पुलिस ने पांच डॉक्टरों में से एक डॉक्टर का नाम सूची से हटा दिया था। जांच में पता चला था कि वह बच्चा चोरी होने के दिन लेबर रूम में ड्यूटी पर नहीं थी। डीएसपी डॉ रविंद्र ने बताया कि डॉक्टरों भी लाई डिटेक्टर टेस्ट को तैयार हो गये हैं। कोट से सत्यापित कॉपी मिलने के बाद टेस्ट कराने संबंधी एप्लीकेशन एफएसएल में भेज दी जाएगी। वहां से तारीख तय होने के बाद टेस्ट करवा दिया जाएगा।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

हर्षिता दहिया को पहले ही हो गया था मौत का अंदाजा, FB लाइव होकर किया था खुलासा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जानिए आखिरी FB लाइव में ऐसा क्या बोली थी हर्षिता दहिया, कुछ घंटे में हो गया मर्डर

पहली बार मिलने आई पत्नी से राम रहीम ने कही ऐसी बात, फूट-फूट कर रोई वो