हड़ताल के चलते मरीज पस्त, होटल में डॉक्टर और अधिकारी मस्त

Home›   City & states›   हड़ताल के चलते मरीज पस्त, होटल में डॉक्टर और अधिकारी मस्त

Rohtak Bureau

अमर उजाला ब्यूरोरोहतक। पीजीआई में चल रही हड़ताल ने जहां मरीजों को पस्त कर दिया, वहीं बुधवार देर रात शहर के एक होटल में दारु पार्टी चर्चा का विषय रही। इस पार्टी में पीजीआई के अलावा सिविल अस्पताल के कई डॉक्टर सहित अधिकारी भी मौजूद थे। सूत्रों की मानें तो एक निजी फार्मा कंपनी द्वारा पार्टी को आयोजित किया गया था। वहीं मामले की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग ने होटल से और दवा कंपनी से पार्टी में मौजूद डॉक्टरों की रिपोर्ट तलब की है। स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली कि बुधवार देर रात एक होटल में डॉक्टरों और अधिकारियों की पार्टी हो रही है। जो किसी फार्मा कंपनी ने दी है। स्वास्थ्य विभाग ने रिपोर्ट मांगी कि इस पार्टी में कहीं वह डॉक्टर तो नहीं थे, जिनकी ड्यूटी पीजीआई में लगी है। वहीं चर्चा है कि इस कार्यक्रम की फोटो और विडियो फुटेज को भी सरकार और विभाग के शीर्ष अधिकारियों तक पहुंचा दी है। इस पर सरकार ने भी स्वास्थ्य विभाग से रिपोर्ट तलब की है। हैरानी की बात है कि प्रदेश में एमसीआई के नियमानुसार सरकारी डॉक्टर को जेनरिक दवा लिखना अनिवार्य है, ऐसे में निजी दवा कंपनी की पार्टी कई सवाल खडे़ करती है। कुलपति डॉ. ओपी कालरा ने अपने जवाब में कहा कि सीनियर फैकल्टी की ड्यूटी मॉर्निंग, इवनिंग और नाइट के हिसाब से लगी थी। इसके बाद उन्होंने इस मामले पर कुछ नहीं बोला।बच्चा चोरी होने वाले परिजनों को मिलेगी सरकारी नौकरी और चार लाख रुपयेपीजीआई के लेबर रूम से बच्चा चोरी मामले में पीड़ित परिजनों ने भी प्रबंधन के आश्वासन के बाद धरना समाप्त कर दिया। बच्चे के चाचा पंकज ने बताया कि प्रशासन ने शाम सात बजे तक उनसे बात की है। इसमें उन्हें कहा गया कि उनके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और चार लाख रुपये दे दिए जाएंगे। वह संस्थान में अपना धरना समाप्त कर दें। बच्चे की तलाश में उनकी पुलिस जांच जारी रहेगी। इसमें कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। पंकज ने बताया कि अधिकारियों ने कहा है कि पहले उनको कांट्रेक्ट पर रखा जाएगा और बाद में पक्का कर दिया जाएगा। पीड़ित ने बताया कि बच्चे का पिता सन्नी आठवीं पास है और रंजू दसवीं पास है। उनका प्रयास रहेगा कि सन्नी को नौकरी दिलाई जाए। साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि बच्चे की तलाश में पुलिस की ओर से कोई ढील दी गई तो वह फिर धरना शुरू कर देंगे। वहीं पुलिस ने दिल्ली में मिले बच्चे के बारे में पुख्ता जानकारी के लिए माता-पिता का सैंपल डीएनए जांच के लिए लिया है। उनसे मिलने पीजीआईएमएस थाना एसएचओ राकेश सैनी आए थे और उन्होंने आश्वासन दिया है कि उनकी जांच में पुलिस हर संभव प्रयास कर रही है।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज

हर्षिता दहिया को पहले ही हो गया था मौत का अंदाजा, FB लाइव होकर किया था खुलासा

जेल में 52 दिन की जिंदगी में राम रहीम का हो गया वो हाल, पहचान नहीं पाएंगे

मुफ्त में देश घूम आया इलाहाबाद का युवक, तरीका बेहद अनोखा

जानिए आखिरी FB लाइव में ऐसा क्या बोली थी हर्षिता दहिया, कुछ घंटे में हो गया मर्डर

पहली बार मिलने आई पत्नी से राम रहीम ने कही ऐसी बात, फूट-फूट कर रोई वो