Movie Review: 'डैडी' में छाए रहे अर्जुन रामपाल

Home›   Movie Review›   movie review of arjun rampal film daddy

रवि बुले

movie review of arjun rampal film daddy

-इसमें संदेह नहीं कि अंडरवर्ड की क्राइम फिल्मों से डैडी थोड़ी अलग है। मुंबई में माफिया डॉन से नेता बने अरुण गवली की बायोपिक सीधी लकीर जैसी है, जिसमें निर्देशक अशीम अहलूवालिया ने सिनेमाई लटकों-झटकों से बचने की कोशिश की। इससे एंटरटेनमेंट के लिए बनाई फिल्म और डॉक्युमेंट्री के बीच की दूरियां कहीं-कहीं खत्म होने लगती है। तब एहसास होता है कि यहां ज्यादातर वही बातें हैं जो पहले से पता हैं। कुछ नई बातें आतीं तो ईमानदार फिल्म हो सकती थी। फिल्म मिस लवली (2012) के लिए चर्चित निर्देशक ने डैडी को ज्यादा से ज्यादा रीयल लोकेशनों पर शूट किया और गवली को ‘हीरो’ नहीं बनाया। मगर उसका दर्द जरूर उभारा है कि जनता ने भले उसे लीडर बना दिया परंतु राजनीति के लिए वह अब भी अंडरवर्ल्ड डॉन है।
आगे पढ़ें >>

Share this article
Tags: arjun rampal , movie review , bollywood ,

Also Read

Movie Review: सनी और बॉबी के फैन हैं, तो ही देखें 'पोस्टर ब्वॉयज'

'बादशाहो' के दमदार डायलॉग्स, अजय के साथ इमरान-विद्युत छाए

Baadshaho Movie Review: शाही अंदाज के धोखे में ना रहें

Most Popular

हनीप्रीत को लेकर नई जानकारी आई सामने, राम रहीम के बारे में कह गई बड़ी बात

Dhanteras : भूलकर भी इस ‌दिन न खरीदें ये 4 चीजें, होता है अशुभ

10 साल से एक हिट के लिए तरस रहे थे बॉबी देओल, सलमान खान ने खोल दी किस्मत

जानिए आखिर कैसे टूटी हनीप्रीत, कैसे कबूला जुर्म, असली सच आया सामने?

बेटी के पिता हैं तो ये वाला बैंक अकाउंट खुलवा लें, करोड़पति बन सकते हैं

Dhanteras 2017: भूलकर भी न खरीदें ये 5 चीजें, मालामाल की जगह हो जाएंगे कंगाल