महिला जज ने किया ND के केस से किनारा

Home›   City & states›   judge Secede hearing ND petitions

अमर उजाला/ नई ‌दिल्‍ली

judge Secede hearing ND petitions

पितृत्व विवाद में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एनडी तिवारी द्वारा दायर दो याचिकाओं की सुनवाई से जस्टिस गीता मित्तल ने खुद को अलग कर लिया है। एनडी तिवारी ने कोर्ट की बजाय बाहर बहस कराए जाने की मांग की थी, जिसे सिंगल जज ने खारिज कर दिया था। तिवारी ने याचिकाएं दायर कर इस आदेश को चुनौती दी है।जस्टिस गीता मित्तल व जस्टिस दीपा शर्मा के समक्ष शुक्रवार को तिवारी की दो याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी लेकिन जस्टिस गीता मित्तल ने मामले की सुनवाई से खुद को अलग करते हुए याचिकाओं को मुख्य न्यायमूर्ति के पास भेज दिया।अपने आदेश में उन्होंने लिखा कि इस मामले की सुनवाई उन्होंने ही की थी, इसलिए संबंधित याचिकाओं को सुनवाई के लिए किसी अन्य खंडपीठ के पास भेजा जाए। बता दें कि 18 सितंबर 2013 को सिंगल जज ने तिवारी की उस मांग को खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने कोर्ट के बजाय नेहरू बाल भवन, यूपी सदन या नेहरू युवा केंद्र में बहस कराए जाने की मांग की थी। सिंगल जज ने तिवारी को कोर्ट द्वारा नियुक्त लोकल कमिश्नर के समक्ष पेश होने को कहा था। तिवारी ने लोकल कमिश्नर के समक्ष पेश होने के बजाय इस आदेश को डबल बेंच के समक्ष चुनौती देते हुए आठ सप्ताह की मोहलत मांगी थी, लेकिन अदालत ने इस मांग को भी खारिज कर दिया था।
Share this article
Tags: nd tiwari , delhi news , news in hindi , congress , congress leader ,

Also Read

‘आप’ की रैली से यहां की बड़ी पार्टियों में हलचल

सलमान के कार्यक्रम में चले लात-घूंसे

कांग्रेसी बोले, कैप्टन को पार्टी से निकालो

प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहते शरद पवार!

Most Popular

6000 लड़कियों ने 'बाहुबली' को शादी के लिए किया था प्रपोज, सबको ठुकरा थामा इस हीरोइन का हाथ

साल की पहली ब्लॉकबस्टर बनीं 'गोलमाल अगेन', जानिए 3 दिन का कलेक्‍शन

इतना बुरा गाकर भी लाखों कमाती हैं ढिंचैक पूजा, बिग बॉस के लिए भी ली सबसे ज्यादा फीस

13 साल की उम्र में एक राजा ने बेगम अख्तर को दिया था ऐसा जख्म, हादसे के बाद बन गई थीं मां

बिहार की लड़की ने प्रेमी की डिमांड पर पार की सारी हदें, दंग रह गए लोग

हेमा मालिनी ने पहली बार खोला सौतेले बेटे सनी देओल के साथ संबंधों का राज