ऑड-ईवन को म‌िली NGT की मंजूरी, दोपह‌िया वाहनों को नहीं म‌िली छूट

Home›   City & states›   if delhi government will fulfill ngt's this condition then they will get the permission for odd even

ब्यूरो/अमर उजाला, नई दिल्ली

if delhi government will fulfill ngt's this condition then they will get the permission for odd evenPC: अमर उजाला

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने द‌िल्ली सरकार को ऑड-ईवन लागू करने की मंजूरी दे दी है यानी 13 से 17 नवंबर तक ऑड-ईवन लागू होगा। हालांक‌ि एनजीटी ने इसके ल‌िए कुछ शर्तें रखी थीं ज‌िसके अनुसार ही यह स्कीम लागू की जा रही है। #FLASH: National Green Tribunal gives nod to the #OddEven scheme. #Delhi pic.twitter.com/zfL3204gh9 — ANI (@ANI) November 11, 2017   वहीं इससे पहले सुनवाई शुरू करते हुए एनजीटी ने कड़ा रुख अख्तियार क‌िया। एनजीटी ने एक बार फिर दिल्ली सरकार के वकील तरुणवीर केहर से ऑड-ईवन को लागू करने के पीछे की वजह पूछी। जस्टिस स्वतंत्र कुमार ने कहा कि पहले जब स्थिति खराब थी तो इसे क्यों नहीं लागू किया, अब क्यों कर रहे हैं जब हालात सामान्य हो गए हैं। इसके साथ ही एनजीटी ने दिल्ली सरकार से वो चिट्ठी दिखाने को कहा जिसके आधार पर ऑड-ईवन लागू किया जा रहा है। एनजीटी ने ये भी पूछा कि क्या आपने एलजी से इस बारे में अनुमति ली है। ट्रिब्यूनल ने दिल्ली सरकार को ये भी बताने को कहा कि आखिर एक इंसान दिन में कितनी बार सांस लेता है। कोर्ट ने ये भी कहा कि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड(सीपीसीबी) ने दिल्ली सरकार को पहले ही इस भयावह स्थिति के बारे में मौखिक रूप से अवगत करा दिया था लेकिन सरकार ने इससे ‌इनकार कर दिया। एनजीटी ने केंद्र और दिल्ली सरकार से जवाब मांगा कि वो एक बड़े शहर का नाम बताएं जिसका पीएम 10 लेवल 100 से कम है। ट्रिब्यूनल ने दिल्ली को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार उसके उसके धैर्य की परीक्षा ना लें। आगे बोलते हुए ट्रिब्यूनल ने कहा कि आंकड़े दिखाते हैं कि बारिश से प्रदूषण के स्तर में कमी आती है तो फिर कृत्रिम बारिश क्यों नहीं करवाई गई? अब जब एनजीटी ने कहा है तो पानी का छिड़काव करवाया जा रहा है।   NGT asks Delhi Government the rationale behind applying the odd even scheme, and why it wasn't applied when the air quality situation was worse — ANI (@ANI) November 11, 2017 NGT asks Delhi government to show the letter on basis of which this decision was taken, and whether the LG's approval was taken for the same. NGT asked the Delhi government to state how many times does a person breathe in a day #OddEven — ANI (@ANI) November 11, 2017 Central Pollution Control Board submitted that they had warned the Delhi government orally in advance about the impending problem, which the Delhi government denied. — ANI (@ANI) November 11, 2017  
आगे पढ़ें >>

सरकार ने ईपीएम के कहने पर ऑड-ईवन किया लागू

Share this article
Tags: odd even formula , exemptions from odd even , delhi news , delhi pollution , air pollution , smog in delhi , odd even rule ,

Most Popular

MISS WORLD 2017: इस सवाल का जवाब देकर मानुषी छिल्लर बनीं विश्व सुंदरी

हॉस्पिटल में ये काम करती थीं अर्शी खान, पसीने से लथपथ देख ब्वॉयफ्रेंड ने जड़ा था जोरदार चांटा

कॉमेडी किंग बन बॉलीवुड पर राज करता था, अब कर्ज में डूबे इस एक्टर को नहीं मिल रहा काम

मानुषी छिल्लर को देखेंगे तो देखते ही रह जाएंगे, मिस वर्ल्ड की 10 UNSEEN PHOTOS

मिस वर्ल्ड बनने को मानुषी ने दी थी बड़ी कुर्बानी, करियर लग गया था दांव पर

500/2000 के नोट को लेकर नई जानकारी आई सामने, देखें वरना पछताएंगे