आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

आंगनबाड़ी कार्यकत्री, प्रधान सहित 6 पर धोखाधड़ी की रिपोर्ट

Hamirpur

Updated Fri, 10 Aug 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। विकासखंड सरीला के ग्राम पंचायत भैसाय में आंगनबाड़ी कार्यकत्री को तीन तरीके से नाजायज फायदा दिया गया। कार्यकत्री ने जिस तारीख में केंद्र पर काम करती रही उन्हीं तारीखों में मनरेगा में दो स्थानों पर मजदूरी करना दर्शाया है। आरटीआई के तहत मांगी गई सूचना से इस बात का खुलासा होने के बाद भी प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की। पीड़ित पक्ष ने अदालत के आदेश पर आंगनबाड़ी कार्यकत्री, प्रधान समेत 6 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला थाना मुस्करा में दर्ज कराया है।
भैसाय गांव में आंगनबाड़ी कार्यकत्री शहीदन को पद पर रहते हुए मनरेगा के कार्य में कई बार कार्य दिया गया। गांव के अरविंद द्विवेदी ने जनसूचना अधिकार अधिनियम के तहत इस मामले की सूचना मांगी। इस पर ग्राम पंचायत ने उसे 3 अक्तूबर 2011 को सूचना दी। पाया कि जॉबकार्ड धारक रोशन अली क ो मनरेगा का काम कई बार दिया गया है। इसमें उसकी पत्नी शहीदन आंगनबाड़ी कार्यकत्री को भी काम दिया गया है। मस्टर रोल संख्या 10012 में पाया कि कार्यकत्री और उसके पति को 16 से 30 जून 2011 तक 15 दिन काम दिया गया। जबकि दूसरे मस्टर रोल संख्या 2570 में जो 19 जून से 30 जुलाई 2011 तक 15 दिन का काम देना दर्शाया गया। कुल मिलाकर जन सूचना में पाया गया कि कार्यकत्री ने तीन स्थानों पर एक साथ काम किया। फिलहाल प्रधान सतीशचंद्र राजपूत, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी हरीशचंद्र राजपूत, रोजगार सेवक (पंचायत मित्र) बलराम सिंह, जॉबकार्ड धारक रोशन अली व आंगनबाड़ी कार्यकत्री शहीदन इस फर्जीवाडे़ में पाए गए। मस्टर रोल पर फर्जी अंगूठा निशान मिले। इसके बाद अरविंद के चाचा उमादत्त द्विवेदी ने मामले की शिकायत बीते 27 नवंबर 11 को जिलाधिकारी से की। साथ ही थाना मुस्करा में आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का प्रार्थना पत्र दिया। इसमें कहा गया कि मनरेगा का करीब 4680 रुपए फर्जी तरीके से अनुचित लाभ दिलाने के उद्देश्य से निकाला गया है। इस सबके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। तो पीड़ित पक्ष ने सीजेएम की अदालत में वाद दायर कर दिया। अदालत ने इस मामले में फर्जीबाड़ा करने वालों के खिलाफ थाना पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का आदेश पारित किया। इस मामले में मुस्करा पुलिस ने प्रधान सतीश्चंद्र राजपूत, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी हरीशचंद्र राजपूत, पंचायत मित्र बलराम सिंह, आंगनबाड़ी कार्यकत्री शहीदन व उसके पति रोशनअली तथा अन्य संबंधित अधिकारियों के खिलाफ धारा 406/409/420 के तहत मुकदमा पंजीकृत करते हुए जांच शुरू कर दी है।


  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

क्या आपने देखा है अमीषा का ये ‘रेड अलर्ट’ फोटोशूट

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

गैस्ट्रिक की समस्या से दिलाएगा छुटकारा गजब का ये आसन

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

सोते समय अगर मुंह से बहती है लार तो ये उपाय दिलाएंगे छुटकारा

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

मिलिए नेपाल के सुपरस्टार से जिसकी हर फिल्म होती है ब्लॉकबस्टर, लेता है मोटी फीस

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

अब नहीं करनी पड़ेगी डाइटिंग..ये 5 तरीके चंद दिनों में घटाएंगे वजन

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!