आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

भेड़ न देने पर वृद्ध की पीट-पीटकर हत्या

Bhadohi

Updated Fri, 07 Sep 2012 12:00 PM IST
औराई। चुरावनपुर (भरतपुर) गांव में बीतीरात दो युवकों ने लाठी-डंडे और लात घूंसों से मारकर एक वृद्ध की हत्या कर दी। शोरगुल सुनकर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने दोनों युवकों को पकड़ लिया और जमकर पिटाई कर दी। एक आरोपी को ग्रामीणों ने पुलिस सौंप दिया जबकि दूसरा आरोपी खुद ही थाने जाकर अपनी गिरफ्तारी दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
औराई थानाक्षेत्र के चुरावनपुर (भरतपुर) निवासी राम जियावन पाल (75) गांव के बाहर एक तालाब पर झोपड़ी लगाकर आधा दर्जन भेड़ों की रखवाली कर रहा था। बताते हैं कि बीतीरात डेढ़ बजे के आसपास गांव के दो युवक पहुंचे और एक भेड़ मांगने लगे। भेड़ देने से इनकार करने पर दोनों युवक राम जियावन पर टूट पड़े और लाठी, डंडा और लात घूंसे से पिटाई करने लगे। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। बीचबचाव में राम जियावन की पत्नी चंपा देवी (72), नाती संजय (8) और पौत्री संजू (12) भी घायल हो गई। दोनों युवक संजय को उठाकर पास के नहर में फेंकने जा रहे थे। तब तक शोरगुल सुनकर गांव के लोग पहुंच गए और दोनों आरोपियों को पकड़ लिया और जमकर पिटाई करके बंधक बना लिया। रात में ही पहुंचे चिकित्सकों ने राम जियावन को मृत घोषित कर दिया। इसी बीच मौका पाकर एक आरोपी हरिश्चंद्र पाल ग्रामीणों के चंगुल से छूटकर थाने पहुंच गया और मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराने लगा। ग्रामीणों ने पुलिस को जानकारी दी कि हरिश्चंद्र ने राम जियावन की हत्या कर दी है तो पुलिस ने उसे लाकअप में डाल दिया। सुबह छह बजे गांव में पहुंची पुलिस ने दूसरे आरोपी रामजी बिंद को भी ग्रामीणों के कब्जे से ले लिया। पुलिस ने घायल चंपा देवी, संजय और संजू का चिकित्सालय में उपचार कराया। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।

इनसेट में
दादा का साया भी मासूमों के सिर से उठा
औराई। माता-पिता की मौत के बाद संजय और संजू का सहारा उनके दादा और दादी थे। भाई-बहन दादा-दादी के साथ रहते थे। राम जियावन का अपना मकान भी नहीं है। वह मजदूरी करके और लोगों के खेतों में भेड़ रखकर परिवार का भरण पोषण करता था। राम जियावन के पुत्र रामराज की मौत आज से सात साल पहले हो गई थी। उसके दो बच्चे संजय पाल (12) और संजू थी। कुछ दिन बाद उसकी पुत्र वधू चनरा देवी पत्नी रामराज पाल की भी मौत हो गई। इससे दोनों बच्चे दादा दादी के साथ रहते थे। बीती रात दादा राम जियावन की हत्या हो जाने के कारण बच्चे अनाथ हो गए हैं। अब वह अपनी बूढ़ी दादी के सहारे हैं। इनके पास अपना कोई मकान भी नहीं है। गांव में एक टूटी फूटी झोपड़ी लगाकर वह किसी तरह से रहते हैं।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

खाने को लजीज बनाने के अलावा आपकी स्किन को भी मिनटों में खूबसूरत बनाएगा ये तेल

  • शुक्रवार, 18 अगस्त 2017
  • +

चार शादियों के बावजूद अकेली रह गई थी ये हीरोइन, आखिरी वक्त में बेटे ने अकेले ही निकाला था जनाजा

  • शुक्रवार, 18 अगस्त 2017
  • +

इस Racist मशीन से सांवले रंग के लोगों के लिए नहीं निकलता साबुन!

  • शुक्रवार, 18 अगस्त 2017
  • +

पुरुषों का इस तरह का स्पर्श हर महिला को कर देता है खुश, आप भी जान लें

  • शुक्रवार, 18 अगस्त 2017
  • +

सावधान! दिल्ली में इस ट्रैफिक सिग्नल पर सरेआम कार में हो रही है लूट-पाट, देखें वीडियो

  • शुक्रवार, 18 अगस्त 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!