आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

तंबुओं के शहर में रौनक, पर्व स्नान आज

Badaun

Updated Wed, 28 Nov 2012 12:00 PM IST
मेला ककोड़ा (बदायूं)। लाखों लोगों की आस्था से जुड़े ककोड़ा मेले का मंगलवार को वेद मंत्रों के उच्चारण के साथ श्रीगणेश हुआ। मेले का उद्घाटन जिला पंचायत अध्यक्ष, सीडीओ और एसएसपी ने संयुक्त रूप से किया। इसी के साथ श्रद्धालुओं का रेला पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। बुधवार को मुख्य पर्व पर हजारों लोग पावन गंगा में डुबकी लगाने यहां जुटेंगे।
मंगलवार को दोपहर डेढ़ बजे जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव, सीडीओ सूर्य पाल गंगवार और एसएसपी धर्मवीर सिंंह ने मेले का उद्घाटन करने के बाद सभी विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का भी शुभारंभ किया। इसके बाद गंगा तट पर पहुंच कर पूजा अर्चना की।
जिला पंचायत प्रशासन भले ही मेले में सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त होने का दावा कर रहा हो लेकिन हकीकत इसके ठीक उलट है। श्रद्धालुओं को टैंट लगाने के लिए खुद ही जमीन समतल करनी पड़ रही है। उद्घाटन से पहले तक जिला पंचायत के कर्मचारी मेले के रास्ते दुरुस्त करने में लगे रहे लेकिन इसक बावजूद रास्तों की दशा नहीं सुधरी है। हालांकि इन तमाम अव्यवस्थाओं पर आस्था हमेशा भारी पड़ती है। तमाम दिक्कतों के बावजूद लोग गंगा मैया के जयकारे लगाने में मशगूल रहते हैं। इस बार अब तक वीआईपी और जनप्रतिनिधियों के कैंपों को छोड़ दें तो बाकी रिहायशी इलाके में बिजली, पानी और शौचालयों का भारी टोटा है।
तकरीबन दो किलोमीटर के दायरे में पूरा एक नगर बस गया है। हजारों लोगों की भीड़ जमा हो चुकी है। रातभर बैलगाड़ियों, ट्रैक्टर-ट्रालियों और जीप-कारों के काफिले मेले की ओर जाते रहे। मेले में प्रवास कर रहे लोग जहां सुबह-शाम गंगा स्नान कर पूजा-अर्चना कर पुण्यलाभ अर्जित करने में लगे हैं, वहीं बच्चे टोलियों में मस्ती करते घूम रहे हैं। उन्हें झूले, सर्कस और मौत का कुआं लुभा रहे हैं।
पूर्णिमा पर महास्नान के दौरान किसी तरह का कोई हादसा न हो इसके लिए आधुनिक नावों और स्टीमर के साथ पीएसी की एक प्लाटून फ्लड कंपनी तैनात कर दी गई है। जिला पंचायत ने भी वाच टॉवरों पर गोताखोर तैनात कर दिए हैं। पीएसी के जवान स्नान पर्व के दौरान स्टीमर से गंगा में लगातार गश्त करेंगे। प्रशासन की और से श्रद्धालुओं को गहरे पानी में न जाने की चेतावनी भी लाउडस्पीकर से लगातार प्रसारित की जा रही है।
पूर्ति विभाग तमाम दावों के बावजूद लोगों को जरूरत के हिसाब से मिट्टी का तेल मुहैया नहीं करा पा रहा है। लोगों को तीस से चालीस रुपयेे लीटर तक मिट्टी का तेल खरीदना पड़ रहा है। पिछले साल पूर्ति विभाग ने तकरीबन डेढ़ दर्ज राशन दुकानें खोली थीं लेकिन इस बार अब तक एक भी दुकान का अता-पता नहीं है।


उद्घाटन के बाद भी जारी रहा तैयारियों का सिलसिला
मेला ककोड़ा। मंगलवार को मिनी कुंभ का उद्घाटन तो हो गया लेकिन व्यवस्थाएं मुकम्मल नहीं हो सकी हैं। प्रशासन ने उद्घाटन से पहले मेले की तैयारियों पूरी करने का दावा तो कर दिया लेकिन उद्घाटन के समय पर सड़कों का निर्माण, चौकियों का निर्माण, वॉच टॉवर बनाने का कार्य, कूड़ा दबाने के लिए जगह-जगह गड्ढों का निर्माण कार्य चलता रहा। मेले में बने वॉच टावरों पर भी कोई मुस्तैद नजर नहीं आ रहा है।

सुरक्षा केनाम पर की गई खानापूर्ति
मेला ककोड़ा। मेले में सुरक्षा व्यवस्था भी पटरी पर नहीं आ सकी है। कहीं तो रास्ते में ही पुलिस चौकियां बना दी गई हैं। जहां चौकियां बनी भी हैं तो उनमें बैठने का इंतजाम नहीं है। तीन-चार पुलिस कर्मी इर्द-गिर्द बिछी घास पर ही बैठकर ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं। वॉच टॉवर बना कर खानापूर्ति कर दी गई है। न ही वॉच टावरों पर किसी की तैनाती की है और न ही ये टॉवर ऊंचे हैं। इनकी ऊंचाई मेले में पंडालों की ऊंचाई के बराबर ही है।

मेले में छटा बिखेरने लगी प्रदर्शनियां
मेला ककोड़ा। मिनी कुंभ के उद्घाटन केबाद जिला पंचायत अध्यक्ष, सीडीओ और एसएसपी ने संयुक्त रूप से मेले में लगी प्रदर्शनियों का भी उद्घाटन किया। मेले में स्काउट गाइड गाइड कैंप, पराग दुग्ध सहकारी संघ, पशुपालन, वन, जलकल, गन्ना, मत्सय, उद्यान विभाग की प्रदर्शनी, किसान एग्रो सिस्टम, जल निगम, बेसिक शिक्षा परिषद, साक्षर भारत मिशन, विकास भवन, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण की प्रदर्शनियां सज गई हैं। सहकारी बैंक, नेहरू युवा केंद्र और किसान मेले के साथ इन सभी प्रदर्शनियों का आज उद्घाटन हुआ। इनका उद्देश्य मेले में आने वाले लोगों को विभाग की योजनाओं की जानकारी देना है।

नहीं आए मंत्री, धरी रह गई तैयारियां
मेला ककोड़ा। मिनी कुंभ के उद्घाटन के लिए पंचायती राज मंत्री बलराम यादव को आना था। इसके लिए जिला प्रशासन ने तमाम तैयारियां भी करा रखी थीं, लेकिन ऐन मौके पर श्री यादव का कार्यक्रम टल गया।
जिला प्रशासन ने पंचायती राज मंत्री बलराम यादव की सुरक्षा के लिए जहां एक तरफ पुलिस फोर्स व एंबुलेंस का इंतजाम किया था, वहीं अस्थाई हैलीपैड पर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद की थी। मंत्री को जिस सड़क से होकर मेला स्थल पर आना था, उसमें सुबह से ही मिट्टी और पानी डलवाया जाने लगा था लेकिन मंत्री के नहीं आने से स्वागत की सारी तैयारियां धरी रह गईं।

मंत्री की राह तकते रहे मासूम
मेला ककोड़ा। बच्चे भी पंचायती राज मंत्री के स्वागत के लिए घंटों खड़े रहकर इंतजार करते रहे, लेकिन जब उनको को पता चला कि अब मंत्री नहीं आएंगे तो उनके खिले हुए चेहरे पर मायूसी छा गई।

पानी है नहीं, खतरे के लगा दिए निशान
मेला ककोड़ा। मेले में गंगा में स्नान के लिए प्रशासन ने ज्यादा गहरे क्षेत्र में जाने के लिए बैरिकेंडिंग बना दी है, लेकिन पानी नहीं होने की वजह सेे श्रद्धालुओं को गंगा में बनी बैरिकेंडिंग से आगे जाकर स्नान करना पड़ रहा है। इस हाल में लोगों की जान को खतरा हो सकता है। गंगा में लगे वॉच टावर पर निगरानी करने वालों के चेहरे किसी अधिकारी के आने पर ही दिखाई देते हैं बाकी समय तो यह खाली ही रहता है।

जिला पंचायत अध्यक्ष ने किया स्काउट शिविर का उद्घाटन
बदायूं। मेला ककोड़ा में मंगलवार को खुले स्काउट-गाइड के शिविर कार्यालय का उद्घाटन जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव ने फीता काटकर किया। स्काउट्स ने इस बार भी मेले में गुम बच्चों को परिजनों से मिलाने का संकल्प लिया है। डीएम जीएस प्रियदर्शी, मेलाधिकारी के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों ने शिविर का निरीक्षण किया। उद्घाटन के समय अशोक कुमार यादव, एएसपी पीयूष श्रीवास्तव, प्रवेश कुमार राठौर, प्रेमपाल, महेशचंद्र सक्सेना और संजीव कुमार शर्मा आदि मौजूद थे।


मिनी कुंभ में खुला बीकेडी का कार्यालय
बदायूं। मेला ककोड़ा में मंगलवार को बहुजन किसान दल के जिला अध्यक्ष राजेश कुमार सक्सेना ने कार्यकताओं की मौजूदगी में कार्यालय का उद्घाटन किया।
उन्होंने कहा कि मेला में बहुजन किसान दल के कार्यालय में कार्यकर्ताओं को रुकने के लिए व्यवस्था है। रोजाना होनी वाली पंचायत में किसानों की समस्याओं पर विचार विमर्श भी किया जाएगा। बीकेडी कार्यकर्ताओं ने गन्ना के समर्थन मूल्य को घोषित कराने के लिए सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति पर विचार किया। इस मौके पर महासचिव सत्यवीर सिंह, नरेंद्र सक्सेना, हारुन गौस, शिवदत्त सागर, बनवारी लाल कश्यप, सौरभ सक्सेना, कृष्णऔतार शाक्य, चित्रांश सक्सेना, चंद्रमोहन वर्मा और गौरव आदि मौजूद थे।

मेले के लिए रोडवेज सेवा शुरू
मेले के उद्घाटन के बाद परिवहन निगम ने बस सेवा शुरू कर दी है। एआरएम पीएस मिश्र ने बताया कि मेले में जाने और आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बस सेवा शुरू कर दी गई है। श्रद्धालुओं को यात्रा में कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी।


नन्हे सिपाहियों पर है बिछड़ों को अपनों से मिलाने का जिम्मा
स्काउट गाइड ने लगाया है मेले में खोया-पाया शिविर

मेला ककोड़ा। उन्हें न सर्दी की परवाह है और न भूख प्यास की चिंता। उनके सिर पर सिर्फ एक ही जुनून सवार है, भीड़ में परेशान हाल की मदद करना। वह सर्द हवाओं की परवाह किए बगैर मेले में अपनों से बिछड़ने वाले मासूमों को मिलाने का जिम्मा संभालते हुए अपने कर्तव्य का निर्वाह कर रहे हैं। यह हैं जिले के स्काउट गाइड।
मेला ककोड़ा में काफी संख्या में लोग मय परिवार के आते हैं। भीड़ अधिक होने पर अक्सर बच्चे मां-बाप से बिछड़ जाते हैं। ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को ज्यादा जानकारी न होने पर वह खासे परेशान होते हैं। ऐसे ही लोगों की मदद करने के लिए स्काउट गाइड ने जिम्मा संभाला है। उन्होंने मेला ककोड़ा में अपना कैम्प लगाया है। 120 स्काउट गाइड पुलिस की तर्ज पर मेला ककोड़ा में बिछड़ने वाले लाडलों को उनके अभिभावकों से मिलाने का कार्य कर रहे हैं। स्काउट गाइड सिपाही के रूप में कैंप में मुस्तैद रहकर बिछड़ने वाले बच्चों के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं। कोई भी शख्स इनके कैंप में शिकायत दर्ज कराकर मदद ले सकता है। बच्चों के अलावा भटके राहगीरों को रास्ता बताने- दिखाने का काम भी पूरी ईमानदारी व निष्ठा से कर रहे हैं। भले ही मेेले में लगे वॉच टॉवर पर पुलिस कर्मी नजर नहीं आ रहे हैं, लेकिन स्काउट गाइड के कैम्प के पास बने वॉच टॉवर पर एक स्काउट पुलिस की जगह खुद ही मुस्तैद था।

नंबर डायल करते ही आएगा मोबाइल क्लीनिक
ह्यूमन वेलफेयर ट्रस्ट की ओर से मेले में बीमार होने पर श्रद्धालुओं के लिए मोबाइल क्लीनिक की व्यवस्था की गई है। एक एम्बुलेंस में जरूरत की दवाएं लेकर डॉक्टरों की टीम इलाज के लिए मुस्तैद है। मोबाइल क्लीनिक को बुलाने के लिए 9412517862, 9412376079 नंबरों पर फोन करना होगा। कॉल पर यह क्लीनिक मरीज के पास होगा और उसका इलाज किया जाएगा। डॉ. कमरुल इस्लाम उसमानी ने बताया कि दिल्ली की संस्था के माध्यम से यह सुविधा मेले में उपलब्ध कराई गई है।
  • कैसा लगा
Comments

स्पॉटलाइट

CV की जगह इस शख्स ने भेज दिया खिलौना, गौर से देखने पर पता चली वजह

  • शनिवार, 23 सितंबर 2017
  • +

दिल्ली से 2 घंटे की दूरी पर हैं ये खूबसूरत लोकेशंस, फेस्टिव वीकेंड पर जरूर कर आएं सैर

  • शनिवार, 23 सितंबर 2017
  • +

फिर लौट आया 'बरेली का झुमका', वेस्टर्न ड्रेस के साथ भी पहन रही हैं लड़कियां

  • शनिवार, 23 सितंबर 2017
  • +

गराज के सामने दिखी सिर कटी लाश, पुलिस ने कहा, 'हमें बताने की जरूरत नहीं'

  • शनिवार, 23 सितंबर 2017
  • +

जब राखी सावंत को मिला राम रहीम का हमशक्ल, सामने रख दी थी 25 करोड़ रुपए की डील

  • शनिवार, 23 सितंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!