आपका शहर Close

संदियों पुरानी अनूठी परंपरा को प्रशासन ने रुकवाया

Badaun

Updated Tue, 13 Nov 2012 12:00 PM IST
आसफपुर। कई दशक से चली आ रही पत्थरमार दिवाली की परंपरा इस साल पुलिस की सख्ती के चलते नहीं मनाई जा सकी। पथराव के लिए दोनों गांवों के लोग ईंट-पत्थर लेकर आमने-सामने आए लेकिन वहां पहले से मौजूद पुलिस ने उन्हें वहां से दौड़ा दिया। इस दौरान पुलिस ने रूटमार्च निकाला।
जिक्र कर दें कि गांव फैजगंज और बेहटा के बाशिंदे हर साल जमदिया वाले दिन पत्थर मार दिवाली खेलते हैं। इसके तहत दोनों गांवों के लोग मलबा लेकर खेत में इकट्ठे होते हैं और जमकर पथराव होता है। खास बात यह है कि इस अनूठे संघर्ष में घायल होने वाला कोई व्यक्ति पुलिस से शिकायत नहीं करता। वहीं यह परंपरा हिंदू और मुस्लिम दोनों धर्म के लोग शामिल होते हैं।
प्रशासन को इस परंपरा की पहले से खबर थी। इसकेचलते सोमवार की सुबह से ही फैजगंज समेत आसपास थानों की पुलिस वहां मुस्तैद हो गई। इसके अलावा एसडीएम गुलाब चंद्र भी सुबह से ही वहां डेरा जमा लिए। अधिकारियों ने गांव वालों को ऐसा न करने के लिए समझाया। भीड़ नहीं मानी तो मुचलका पाबंद करने की हिदायत भी दी। बावजूद इसके कुछ लोगों ने यह परंपरा निभाने की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें दौड़ा दिया। हालात बिगड़ने से पहले पुलिस ने इलाके में रूटमार्च भी निकाला। एसओ गंगा सिंह यादव ने बताया कि गांव के संभ्रांत लोगों के सहयोग से इस बार यह अनूठी परंपरा रुकवा दी गई है।
Comments

स्पॉटलाइट

'पद्मावती' विवाद पर दीपिका का बड़ा बयान, 'कैसे मान लें हमने गलत फिल्म बनाई है'

  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

'पद्मावती' विवाद: मेकर्स की इस हरकत से सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी नाराज

  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

कॉमेडी किंग बन बॉलीवुड पर राज करता था, अब कर्ज में डूबे इस एक्टर को नहीं मिल रहा काम

  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

हफ्ते में एक फिल्म देखने का लिया फैसला, आज हॉलीवुड में कर रहीं नाम रोशन

  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

SSC में निकली वैकेंसी, यहां जानें आवेदन की पूरी प्रक्रिया

  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!