आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

रामद्वार के मुद्दे पर भड़के लोग

Badaun

Updated Mon, 08 Oct 2012 12:00 PM IST
बदायूं। गांधी ग्राउंड के रामद्वार का नाम बदलने को लेकर लोगों में खासा गुस्सा है। रविवार के दिन इस मुद्दे को लेकर लोग सड़कों पर उतर आए। तमाम लोगों ने पहले मालवीय आवास पर धरना देकर प्रदर्शन किया और फिर मंडलायुक्त को संबोधित एक ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा गया। इस ज्ञापन में रामद्वार का नाम बदले जाने पर आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी गई है। धरना स्थल पर मनोज कृष्ण गुप्ता ने कहा इतिहास गवाह है, जिसने भी भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के नाम का अपमान करने का दुस्साहस किया है वह स्वयं ही मिट गया। बदायूं के रामलीला मैदान के रामद्वार से हर साल से श्रीराम बारात का प्रवेश होता आया है। रामलीला का उद्घाटन श्रीराम द्वार से ही फीता काटकर किया जाता रहा है। यह द्वार हिंदू समाज के स्वाभिमान का प्रतीक है, इसका नाम किसी कीमत पर बदलने नहीं देंगे।
अध्यक्षता करते हुए ठाकुर आलोक सिंह गौर ने कहा कि रामद्वार अगर नगरपालिका नहीं बनाएगी तो हम गली-गली हर हिंदू घर से चंदा मांगकर स्वाभिमान की रक्षा करते हुए अपने धन से बनवा देंगे। मगर नाम ओमप्रकाश द्वार के नाम से नहीं रखने देंगे। उमेश चंद्र शर्मा ने कहा कि आम नागरिक इस बेतुकी घटना से हैरान है। सभी ने मांग की कि प्रवेश द्वार के लिए जारी गजट निरस्त किया जाए। द्वार का जीर्णोद्धार श्रीराम के नाम से ही कराया जाए और पालिका बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव भी कराया जाए। चेयरमैन सार्वजनिक रूप से इस गलती के लिए जनता से माफी मांगे।
इस मौके पर कैलाश चंद्र गुप्ता, योगेंद्रपाल गुरु, डा. जयप्रकाश गुप्ता, अरविंद परमार, हीरालाल प्रजापति, अरविंद गुप्ता एडवोकेट, सुरेंद्र सिंह, अरविंद सिंह, जितेंद्र सिंह, संजय सिंह, अमित सिंह, भूपेंद्र भदौरिया, विष्णु दयाल सागर, शिवकुमार सागर, लखन वर्मा, श्याम यादव, मुकेश आस्था, लालता प्रसाद साहू, सुधीश गुप्ता, विनोद सिंह, संजय गौर, अवधेश गुप्ता, अतुल जाटव, अमित वर्मा, सचिन गुप्ता, नरेश चंद्र साहू, आरपी शर्मा आदि मौजूद रहे।

बदनीयती से किया जा रहा है प्रचार
बदायूं। नगरपालिका के चेयरमैन ओमप्रकाश मथुरिया ने जारी विज्ञप्ति में कहा है कि लोग अपनी चुनावी हार की खिसयाट उतारने के लिए जनता में भ्रम फैला रहे हैं। जबकि नगरपालिका के रिकार्ड के अनुसार जिस गेट की यह चर्चा की जा रही है वह बदायूं के सेठ रामप्रकाश अग्रवाल के पिता किशन के नाम से द्वार बना था। श्रीकृष्ण सेठ ने ही इस द्वार का निर्माण कराया था। पिछले दस साल से यह गेट को लेकर विवाद की स्थिति बनी है। जिससे गेट का पुन: निर्माण नहीं हो सका। अप्रिय घटना के मद्देनजर गेट बनवाने का प्रस्ताव पास हुआ और उसके ऊपर श्रीराम दरबार का निर्माण भी कराया जाना है। इस गेट पर निर्माणकर्ता के रुप में अध्यक्ष नगरपालिका का नाम लिखे जाने की बात हुई थी, लेकिन लोग इसका भ्रामक प्रचार कर रहे हैं।
चेयरमैन से मिले बजरंग दल के पदाधिकारी
बदायूं। नगरपालिका अध्यक्ष ओमप्रकाश मथुरिया से बजरंग दल के पदाधिकारी मिले। उन्होंने पूर्ण आश्वासन दिया कि विवादित द्वार के ऊपर एक भव्य राम दरबार उसके नीचे प्रभु श्रीराम का नाम तत्पश्चात नगरपालिका अध्यक्ष का नाम आएगा। बजरंग दल के प्रांत सह संयोजक अज्जू चौहान ने बताया कि जो लोग दल का प्रयोग कर अनावश्क बयानबाजी कर रहे हैं वह पूर्व में ही निष्कासित किए जा चुके हैं। दल के जिला संयोजक उज्जवल गुप्ता ही हैं।
  • कैसा लगा
Comments

Browse By Tags

स्पॉटलाइट

प्याज के छिलके भी हैं काम के, यकीन नहीं हो रहा तो खुद ट्राई करें

  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
  • +

सामने खड़ी थी पुलिस, वो लाश से मांस नोंचकर खाता रहा...

  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
  • +

इंटरव्यू में जाने से पहले ऐसे करें अपना मेकअप, नौकरी होगी पक्की

  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
  • +

देखते ही देखते 30 मीटर पीछे खिसक गया 2000 टन का मंदिर

  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
  • +

बॉलीवुड की 'सिमरन' की बहन को देखा क्या आपने, कुछ ऐसा है उनका बोल्ड STYLE

  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!