आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

ऊर्जा मंत्री के पत्र को नजीर बना दे दिए 300 कनेक्शन

Badaun

Updated Sun, 09 Sep 2012 12:00 PM IST
बदायूं। जिले के डार्क ब्लाकों में प्रतिबंध के बावजूद नलकूपों को बिजली देने के मामले में एक और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। तत्कालीन अधीक्षण अभियंता द्वारा मुख्य अभियंता बरेली को लिखे पत्र में उल्लेख है कि पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय ने इसके लिए निर्देश दिए थे। हालांकि उक्त निर्देश एक कनेक्शन के लिए था लेकिन उसे नजीर बनाकर एक-एक कर लगभग 300 कनेक्शन दे दिए गए। इस संबंध में चल रही विजिलेंस जांच भी अब पूरी होने को है।
उल्लेखनीय है कि डार्क ब्लाक उनको घोषित किया गया है जहां भूजल स्तर खतरनाक हद तक कम है। ऐसी जगह नलकूप लगाने पर प्रतिबंध है। तत्कालीन अधीक्षण अभियंता बदायूं गिरीश कुमार ने मुख्य अभियंता बरेली क्षेत्र को 29 नवंबर 2009 को लिखे पत्र में कहा है कि जिलेे के कुछ किसान निजी नलकूप के लिए बिजली कनेक्शन लेना चाहते हैं। इनके नलकूप की बोरिंग लगभग चार-पांच वर्ष पुरानी है।
उन्होंने प्रदेश के ऊर्जा मंत्री के 26 जुलाई 2008 को दिए निर्देश का हवाला भी दिया जिसमें उन्होंने जिला अध्यक्ष (बीएसपी) को कनेक्शन देने को कहा था। श्री कुमार ने डार्क जोन में कनेक्शन देने के लिए अनुमोदन देने का आग्रह करते हुए पत्र में उल्लेख किया था कि ऊर्जा मंत्री ने 13 नवंबर 2009 को बिल्सी के गांव पिंडौली के रामचंद्र पुत्र सावंती को नलकूप संयोजन देने के आदेश दिए हैं। यही नहीं उन्होंने सीडीओ बदायूं के 21 नवंबर 2008 के पत्र संख्या 807 का हवाला देते हुए लिखा कि इसमें भी बोरिंग पर कनेक्शन देने के लिए कहा गया है। इस पत्र के आधार पर मुख्य अभियंता बरेली ने विशेष परिस्थितियों में कनेक्शन देने की अनुमति दे दी। फिर क्या था, जिले के डार्क ब्लाकों में करीब 300 नलकूप कनेक्शन दे दिए गए।
राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन की शिकायत पर इसी साल शासन ने डार्क ब्लाकों अंबियापुर, आसफपुर, बिसौली, जगत, जुनावई, रजपुरा, सहसवान, सालारपुर, वजीरगंज, दहगवां, इस्लामनगर, म्याऊ में नलकूप कनेक्शन के मामले की जांच बरेली विजिलेंस को सौंपी थी।

डार्क ब्लाक में किसी परिस्थिति में संयोजन नहीं दिए जा सकते। हम भी इस मामले की जांच करा रहे हैं। यदि पूर्व में ऐसा पत्र जारी हुआ है तो यह गलत है। -वीके शर्मा, मुख्य अभियंता बरेली।

बसपा शासन में घोटाले हुए हैं, उसमें यह भी शामिल है, इसकी जांच कराई जाएगी।-बनवारी सिंह यादव, जिलाध्यक्ष सपा

ऊर्जा मंत्री ने जनता के हित को देखते हुए ही डार्क ब्लाकों में बिजली कनेक्शन के आदेश दिए होंगे।-डॉ. क्रांति कुमार, जिलाध्यक्ष बसपा
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

अगर नहीं रुक रहा घर में पैसा तो इन छोटे उपायों से पाएं राहत

  • बुधवार, 29 मार्च 2017
  • +

Navratri Spl: व्रत में जब चटपटा खाने का मन करे तो ट्राई करें ये समोसा

  • बुधवार, 29 मार्च 2017
  • +

यहां उल्टा लटक कर चलती है ट्रेन, हजारों लोग करते हैं भयानक सफर

  • बुधवार, 29 मार्च 2017
  • +

OMG: मलाइका के बालों को ये क्या हो गया, तस्वीरें आईं सामने

  • बुधवार, 29 मार्च 2017
  • +

करीना को सता रहा इस बात का डर, हड़बड़ी में अपने 3 महीने के बेटे तैमूर को छोड़ने पर हुईं मजबूर

  • बुधवार, 29 मार्च 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top