आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

एक दर्जन मकानों में पड़ी दरारें

Badaun

Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
सहसवान(बदायूं)। पहाड़ों पर हुई बारिश से गंगा नदी में आई बाढ़ का पानी तेलिया नगला गांव में घुसकर तबाही मचाने लगा है। दर्जनभर से अधिक मकानों में दरारें पड़ गई हैं और गांव में तीन से चार फुट पानी बह रहा है। प्राथमिक विद्यालय भी जलमग्न है। वहीं मकान को तोड़ते समय पटिया गिरने से एक युवक घायल हो गया। एसडीएम और प्रभारी निरीक्षक ने गांव का जायजा लिया। गांव के कुछ महिला और पुरुषों ने राजस्व निरीक्षक से कहा कि वह पहले उनका सामान सुरक्षित जगह पहुंचाएं, उसके बाद वह जाएंगे। इसको लेकर निरीक्षक और सिपाहियों से ग्रामीण भिड़ गए। बुधवार को गंगा का जलस्तर कम होने से प्रशासन को जरुर राहत मिली है। तीन अन्य गांवों को भी खाली करा लिया गया है।
तेलिया नगला गांव में जाने के सभी रास्ते बंद हो चुके हैं। एसडीएम रामअभिलाष पटेल और प्रभारी निरीक्षक आरएस सरोज ने पुलिस फोर्स और राजस्व विभाग की टीम के साथ नाव से गांव जाकर स्थिति देखी। गांव के अधिकांश ग्रामीण सड़क पर शरण लिए हुए हैं। एसडीएम के गांव से चले आने के बाद कुछ महिला और पुरुषों ने गांव से जाने से इनकार कर दिया। राजस्व निरीक्षक वीरेंद्रपाल और पुलिस के सिपाही चंदन सिंह तथा महेश के समझाने के बाद भी वह नहीं मानी और झगड़े पर आमादा हो गए।
तेज धार से सौदान, चेतराम, हजारी, कडडे, ऋषिपाल, रामा, बिचौली, मुन्नालाल आदि के मकानों में दरारें पड़ गई हैं। मकान कटने की आशंका से दर्जनों ग्रामीणों ने अपने मकान को स्वयं गिराकर ईटें और अन्य सामान सड़कों पर ला रहे हैं। मकान तोड़ते समय रामलाल का पुत्र अनार सिंह पटिया गिर जाने से घायल हो गया। जिसको उपचार के लिए सहसवान के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ग्रामीणों की मदद के लिए तहसील प्रशासन ने चार नाव लगाई हैं। तहसील प्रशासन की ओर से बाढ़ पीड़ितों को भोजन के पैकेट वितरित किए गए।
गंगा का पानी गिरधारी नगला, आसे नगला और परशुराम नगला से लगकर बह रहा है। गंगा गांव चौकीदार नगला के पास तेजी से कटान करती हुई गांव की ओर बढ़ रही है। एक दिन में सौ मीटर से अधिक गंगा कटान कर चुकी है। चौकीदार नगला गांव गंगा से महज 150 मीटर दूर रह गया है। ग्रामीणों की सैकड़ों बीघा धान की फसल समा चुकी है।

रैपुरा स्कूल के कमरे भी चपेट में
उसहैत। गंगा के उस पार के गांव रैपुरा के प्राथमिक स्कूल के दो कमरे कट गए हैं। गंगा का पानी तेजी से कटान कर रहा है। इस गांव के अब तक दो दर्जन से अधिक मकान गिर गए। कदमनगला, जटा आदि में भी पानी भरा हुआ है। गंगा के इस पार के दर्जनभर गांवों में राहत सामग्री नहीं पहुंची है। इससे लोग परेशान हैं। एसडीएम दातागंज आरपी कश्यप ने रैपुरा के 34 परिवार को 1.50 लाख रुपये राहत के रुप में दिए हैं। इनके मकान कट गए थे। गंगा के उस पार के लोगों को कटरासहादतगंज बाढ़ चौकी पर डॉ. महेंद्र की टीम ने दवाएं दी। बाढ़ खंड एक्सईएन डीके जैन का कहना है कि हरिद्वार, बिजनौर में 70 हजार क्यूसेक पानी रह गया है। इससे पानी यहां भी कम होगा। बुधवार को 1.48 लाख क्यूसेक पानी गंगा में चल रहा है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

Browse By Tags

dozen houses

स्पॉटलाइट

गूगल लाया नया फीचर, अब फोन में डाउनलोड ही नहीं होंगे वायरस वाले ऐप

  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017
  • +

क्या आपकी उड़ गई है रातों की नींद, ये तरीका ढूंढ़कर लाएगा उसे वापस

  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017
  • +

दुनिया पर राज करने वाले मुकेश अंबानी आज तक अपने इस डर को नहीं जीत पाए

  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017
  • +

एक्टर बनने से पहले स्पोर्ट्समैन थे 'सीआईडी' के दया, कमाई जान रह जाएंगे हैरान

  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017
  • +

अपने हाथों से ये राशि वाले इस सप्ताह बर्बाद करेंगे अपना प्रेमी जीवन

  • शुक्रवार, 21 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!