आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

घर का किराया भी नहीं दे र्गईं चिदर्पिता, सात हजार बकाया

Badaun

Updated Sun, 12 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। बीपी गौतम से अपनी राहें जुदा करते समय साध्वी शायद ये भूल गईं कि जिस घर में वह रह रही हैं, उसका किराया देना बाकी है। उनके जाने के बाद शनिवार को मकान मालिक ओपी आर्य ने इसका खुलासा किया है। श्री आर्य की मानें तो प्रतिमाह दो हजार रुपये के हिसाब से नौ महीने के किराए में अभी तक उन्हें किश्तों में 11 हजार रुपये मिले हैं, किराए के सात हजार रुपये मिलना अभी बाकी हैं। श्री आर्य के अनुसार चिदर्पिता और उनके पति के साथ 10 अक्तूबर को किराए की बात तय हुई थी। 15 अक्तूबर को उन्होंने शिफ्ट कर लिया था।
चार महीना पहले अप्रैल से उनके विवाद को देखते हुए घर खाली करने को कहा था लेकिन गौतम और चिदर्पिता जल्द खाली करने की बात कहकर इसे टालते रहे। उन्होंने बताया कि 20 दिन पहले गौतम से किराया भी मांगा था लेकिन उन्होंने अगले कुछ दिनों में देने का वायदा किया था। अब यह किराया वह गौतम से मांगेंगे।

केस फाइलों को लेकर भी हुई चिदर्पिता-गौतम में खींचतान
चिन्मयानंद की गिरफ्तारी को रिट पिटीशन दाखिल कर रखी है चिदर्पिता ने
बदायूं। चिदर्पिता और गौतम के बीच शुक्रवार को फाइलों को लेकर भी खींचतान हुई। यह फाइलें स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज कराए गए केस से जुड़ी थीं। हालांकि पुलिस की मौजूदगी होने के कारण गौतम इन फाइलों को हासिल नहीं कर सके। बताते हैं कि स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी को लेकर चिदर्पिता ने इलाहबाद हाईकोर्ट में रिट पिटीशन दाखिल कर रखी है। अब जबकि गौतम से रिश्तों में दरार पड़ गई है तो इस केस से संबधित फाइलें गौतम के हाथ न लगे इसकी उन्होंने भरपूर कोशिश की और सफल भी हुईं।



चिन्मयानंद ने कहा, मेरे पास नहीं आई हैं चिदर्पिता
हरिद्वार। चिदर्पिता हरिद्वार पहुंचने की बात पर स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती ने अनभिज्ञता जताई है। उन्होंने कहा कि वह मेरे पास नहीं आई हैं। कनखल में मेरा एक गणपति ज्ञान मंदिर आश्रम है। इस आश्रम में भी वह नहीं पहुंची हैं। उन्होंने इन खबरों को गलत बताया कि वे चिदर्पिता को साध्वी बनाने का प्रयत्न कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को चिदर्पिता का फोन मेरे पास आया था। तब मैंने कहा कि यदि जीवन को खतरा है तो वे उन्हें अपने बदायूं या शाहजहांपुर आश्रम में जीवन बचाने के लिए रख सकते हैं। चिदर्पिता ने हरिद्वार आने की इच्छा जताई है। तब मैंने कहा कि यदि जीवन को वास्तव में खतरा है तो यहां आ सकती हैं।

दोषी पाने पर होगी गौतम की गिरफ्तारी: एसपी
बदायूं। चिदर्पिता ने अपने पति बीपी गौतम के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, जान से मारने की धमकी देना और मारपीट-गालीगलौच करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया है। एसपी मंजिल सैनी ने बताया कि इस मामले में की विवेचना करने का थाना पुलिस को निर्देश दिया है। विवेचना में दोषी पाए जाने पर ही गौतम की गिरफ्तारी होगी।
यह रहा सजा का विवरण
वरिष्ठ अधिवक्ता सूर्यप्रकाश गुप्त ने बताया कि दहेज उत्पीड़न के आरोप में सात साल की सजा है। इसके अलावा जान से मारने की धमकी देना, गालीगलौच करना और मारपीट करने में तीन-तीन साल की सजा है। सुप्रीम कोर्ट की रूलिंग के मुतबिक सात साल से अधिक सजा वाले गुनाह में गिरफ्तारी संभव है। हालांकि यह पुलिस पर निर्भर करता है कि आरोपी किस प्रवृति का है। यदि उससे घटना के सबूत और गवाहों को भड़काने की संभावना है तो उसकी गिरफ्तारी की जा सकती है।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

दीपिका पादुकोण को मिला ये खास सम्मान

  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +

लेक्सस ने भारत में लॉन्च की एक साथ तीन कार

  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +

'अंगूरी भाभी' का आरोप, प्रोड्यूसर के पति ने की छेड़छाड़

  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +

आपके बिजनेस को नुकसान से बचाएगा यह उपाय, आजमाकर देखें

  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +

स्मार्टफोन से बेहतरीन फोटो खींचने के लिए जरूर पढ़ें ये टिप्स

  • शुक्रवार, 24 मार्च 2017
  • +
TV
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top